इस तरह मरती गाय के लिए कौन जिम्मेदार, क्या हिंदूवादी संगठन करेगा इसका उपचार

आगरा। शमसाबाद क्षेत्र में गाय की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन गायों की हो रही मौत से हिंदूवादी संगठनों के साथ साथ क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

शनिवार को एक और गाये की मौत की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय लोगों के साथ हिंदूवादी संगठन थाने पहुँच गए और तहरीर देकर इस कृत्य को अंजाम देने वाले लोगों को पकड़ने और सख्त सजा दिलाने की मांग की।

मामला थाना शमशाबाद क्षेत्र के आगरा रोड स्थित क्षत्रिय कॉलोनी का है। शनिवार को इस क्षेत्र में एक गाय की अचानक मौत हो गई। इस गाये की मौत के साथ ही इस महीने मरने वाली गायों की संख्या 5 होगी। गायों की मौत की सूचना पाकर हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता घटनास्थल पर पहुंच गए। हिंदूवादी संगठन ने जमकर हंगामा काटा और साजिश के तहत गायों को मारने की बात कही।

स्थानीय लोगों का कहना है कि एक माह में चार-पांच आवारा गायों की मौत हो चुकी है।

गाय की मौत की सूचना स्थानीय लोगों ने विकासखंड के पशु चिकित्सकों को दी। पशु चिकित्सक पंकज चौधरी ने मौके पर पहुंचकर गाय को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

पोस्टमार्टम के बाद आई रिपोर्ट में पता चला है कि गाय की मौत ज्यादा मात्रा में पॉलीथिन खाने से हुई है।

इसका मतलब साफ़ है कि गाय की मौत पर अगर हिंदूवादी संगठनों का आक्रोश जायज है और जो संगठन गाय को माता मानकर कुछ भी करने को तैयार हैं तो आवारा घूमती गायों के लिए उचित रूप से खाने-पीने और उनके रहने की व्यवस्था करना भी हिंदूवादी संगठनों की जिम्मेदारी बनती है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*