वायु प्रदुषण की चपेट में आगरा, पर्यटक परेशान, सरकार नहीं उठा रही ठोस कदम

आगरा। आगरा में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर एनजीओ और तमाम समाज सेवी संगठन सजग होते हुए नजर आ रहे है। प्रदेश सरकार की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाये जाने से नाराज सामाजिक संगठनों की ओर से वायु प्रदूषण को कम करने और उसके प्रति आम नागरिक को जागरूक करने के लिए द क्लाइमेट एजेंडा संस्था की ओर से पूरे प्रदेश में जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

वाराणसी से शुरू हुआ अभियान अब आगरा भी आ पहुंचा है। गुरुवार को द क्लाइमेट एजेंडा संस्था की ओर से दिल्ली गेट स्थित देवांश होटल में वायु प्रदूषण विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें शहर की समाज सेवी संगठनों के साथ-साथ पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए कार्य कर रहे लोगों ने भाग लिया और प्रदूषित होते जा रहे शहर को बचाने के लिए अपने अपने विचार रखे।

संस्था के लोगों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में उत्तर भारत के सभी राज्य गंभीर प्रदूषण की चपेट में आ चुके हैं। प्रदूषण के मामले में दिल्ली पहले नंबर पर तो आगरा का दूसरा नंबर चल रहा है। आगरा पर्यटन नगरी होने के कारण भी उत्तर प्रदेश सरकार ने कोई वायु प्रदुषण पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। समाज सेवी संस्थाओं का कहना है कि इस अभियान के तहत लोगों को वायु प्रदुषण के प्रति जागरुक किया जा रहा है। जिससे प्रदूषण को कम करने के लिए ठोस कदम उठाये जा सके।

समाजसेवी लोगों का कहना है कि हर जिले में वायु गुणवत्ता मापन, स्वच्छ ऊर्जा आधारित परिवहन, और कचरा निस्तारण के लिए उत्तम साधन होने चाहिए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*