बुलेट चलाने के शौक में दरोगा बने आज हैं ये सूबे के कद्दावर कैबिनेट मंत्री

आगरा। ताज बाइक रैली का दूसरा संस्करण रविवार को आयोजित हुआ। होटल क्लार्क्स शिराज से शुरू हुई रैली आगरा और मथुरा जनपद के घुमावदार रास्तों से होती हुई वापस होटल पर आकर समाप्त हुई। यह रैली 6 कैटेगरी में टी एस डी फॉर्मेट पर हुई थी। सूबे के कैबिनेट मंत्री प्रो. एस पी सिंह बघेल ने सभी विजेताओं को सम्मानित किया। इस मौके पर अपने मन की बात भी कैबिनेट मंत्री ने लोगों से साझा की।

ताज रॉयल प्रॉ बाइकिंग के बैनर तले 2017 में पहली बार आगरा ताज बाइक रैली का सफल आयोजन हुआ था। 2018 में दूसरे संस्करण का आयोजन 4 मार्च को किया गया। होटल क्लार्क शिराज से शुरू हुई रैली में आगरा मंडल के 100 से ज्यादा बाइक राइडर्स शामिल हुए। इस रैली के समापन समारोह में मुख्य अथिति के रूप में कैबिनेट मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह पहुंचे। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस तरह के इवेंट देश में बहुत कम होते हैं। ऐसे इवेंट से पर्यटन को बढ़ावा मिलता है।

कैबिनेट मंत्री एसपी सिंह बघेल ने कहा कि पुलिस को चालान करने की बजाय मौके पर ही हेलमेट खरीदवाना चाहिए। इनमें कमीशन नहीं होना चाहिए। रैली को पर्यटन के लिए आकर्षण बताते हुए उन्होंने कहा कि वह वर्ष 1974 में खजुराहो गए थे। तब उन्होंने वहां पर आगरा से पहुंची फ्लाइट को देखा था। आज बनारस से तो कई फ्लाइट चल रही हैं, लेकिन आगरा के लिए सीधे फ्लाइट नहीं है। पर्यटक ताजमहल का उचित तरीके से लाभ नहीं ले पा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि बुलेट के शौक की वजह से वो दरोगा बने थे। बताया कि वो जब दरोगा थे तब गलत तरीके से बाइक चलाने वालों को सबक सिखाते थे। अब चूंकि मंत्री हूँ तो ऐसे नियम तोड़ने वाले लोगों को छुड़वाने का काम भी करता हूं। उन्होंने कहा कि मरीजों से मिलने जाता हूं तो 2 फायदे होते हैं। एक तो मरीजों को इलाज अच्छा मिलना शुरू हो जाता है वहीं जो डॉक्टर अनाप-शनाप बिल बनाते हैं। उसमें राहत मिलती है।

राजनीति में सपा बसपा को एक साथ खाने पर कैबिनेट मंत्री का कहना था कि दोनों दलों का साथ एक बेमेल है। पूर्वोत्तर के राज्यों में भाजपा को जिस तरह से जीत मिली है उस से घबराकर दोनों पार्टियां एक हो गई हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*