कैला मैया के भक्तों के सैलाब से गुलज़ार होने लगी ताज़नगरी की सड़कें

आगरा। बसौड़ा पूजन के साथ ही ताजनगरी की सड़कें माँ कैलादेवी के भक्तों से गुलजार नजर आ रही है। चारों ओर करौली मैया के जयकारों के साथ मैया के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तों ने अपनी पदयात्रा की शुरुआत कर दी है। भारी संख्या में देवी के भक्त अपने परिवार के साथ माता के दर्शन के लिये घरों से निकल गए है।

करौली मैया की महिमा के कारण ही आगरा से ही नही बल्कि फिरोजाबाद, शिकोहाबाद,
फतेहबाद, शमशाबाद और आगरा जिले की सीमा से लगे शहरों से भी लोग पदयात्रा कर माता के भवन पहुँचते है। आगरा से यह यात्रा करीब 200 किलो मीटर है और आसपास के शहर व जिलों से आने वाले पदयात्रियों के लिए यह दूरी ओर बढ़ जाती है। माता के दर्शन की यह यात्रा 5 से 6 दिनों में पूरी होती है।

हर वर्ष माता के दर्शन के लिए जाने वाले पदयात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ रही है। इसलिए इन पदयात्रियों की सेवा के लिए पदयात्रा के मार्ग में भक्तो की ओर से जगह जगह भंडारे व चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया जाता है जिससे भक्तो को किसी तरह की दिक्कत न हो।

श्रद्धालुओं ने बताया कि नवरात्रों में कैला मैया की जात का मेला लगता है। इसलिए भवन पर श्रद्धालुओं की अच्छी खासी भीड़ होती है और इसी समय पदयात्रा भी की जाती है। माता के दर्शन के लिए पदयात्रा कर रहे श्रद्धालु काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं। महिलाओं का कहना है कि वो काफी समय से पैदल ही माता के भवन के लिए जाती है तो कुछ महिलाओं की यह पहली यात्रा थी जो अपने परिवार के साथ हाथ में माता की ध्वजा और माथे पर चुनरी बांध कर, जयकारे लगाते हुए आगे बढती चली जा रही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*