नशे में डॉक्टर ने किया मासूम का ऑपरेशन, लीपापोती में जुटा स्वास्थ्य विभाग

मथुरा। डॉक्टर को सभी भगवान का रूप मानते है लेकिन मथुरा के एक मेडिकल कॉलेज में एक डॉक्टर ने एक मासूम बच्चे के सिर में ऑपरेशन के दौरान ऑपरेशन के उपकरणों को ही छोड़ दिया जिसका जीती जागती तस्वीर से आप अंदाजा लगा सकते है। तस्वीरों में सिर में लगे टाँके के बने निशानों के बीच चमकती नुकीली तस्वीर दिखाई देती है जो की एक इंजेक्शन की सुई है।

इस लापरवाही के चलते एक मासूम बच्चे की जान पर बन आई है। इलाज कराने के लिए बच्चे का पीड़ित पिता दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है और ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं जिसमें मथुरा स्वास्थ्य विभाग पैसे के लालच में निजी अस्पतालों के साथ मिलकर मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

बताते चलें कि पीड़ित दाऊदयाल के बेटे बंशी के सिर में पिछले दिनों चोट लग गयी जिससे सिर में टाँके आये थे। ये टाँके लगवाने को दाऊदयाल अपने बच्चे को लेकर मथुरा के KD अस्पताल गए थे। उसके बाद से मासूम बंशी को लगातार सिर दर्द की शिकायत बनी हुई थी। इस परेशानी का कारण जानने के लिए पिता दाऊदयाल ने मथुरा CMO से KD अस्पताल की घटना को उनके समक्ष रखा। मथुरा CMO से मिलने के बाद CMO ने जाँच की बात कही जिसके चलते बच्चे को लेकर दाऊदयाल सरकारी हॉस्पिटल गया और डॉक्टरों ने इलाज से पहले पीड़ित के बच्चे का एक्सरे कराने की बात कही।

उसका एक्सरे कराया लेकिन एक्सरे में सब कुछ सामान्य आया। एक्सरे रिपोर्ट भी दे दी लेकिन पीड़ित को स्वास्थ विभाग की मिली भगत का शक हुआ और पीड़ित ने नजदीकी CT स्कैन सेंटर पर एक्सरे कराया जिसमें सुई होने का वाकया सामने आया। जहाँ CT स्कैन डॉक्टर सुधीर कुमार सिंह ने मथुरा के सरकारी जिला हॉस्पिटल के डॉक्टरों को सुई की बात की पुष्टि करके चैलेंज दिया है।

पीड़ित दाऊदयाल का आरोप है कि KD हॉस्पिटल में उपचार के समय इलाज करने वाले डॉक्टरों ने शराब पी रखी थी और आरोपी डॉक्टर ने नशे की हालत में ऑपरेशन किया है। इस तरह के मामले हॉस्पिटल में सामने आते रहते हैं।

नामचीन हॉस्पिटल होने की वजह से लोगों और क्षेत्रीय थाने पर साठ गाँठ है। इसलिए पीड़ित पर क्षेत्र और गांव व कोतवाली प्रभारी उनके ऊपर राजीनामा का दबाव बना रहे हैं लेकिन संबंधित चिकित्सक के खिलाफ मुकदमा नहीं लिख रहे हैं। पीड़ित दाऊदयाल डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही चाहते हैं। जरुरत पड़ी तो वह मुख्यमंत्री के पास जाकर शिकायत करेंगे।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते मासूम की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है। मासूम बच्चे के सिर में आज भी सुई फंसी हुई है लेकिन KD अस्पताल पर कार्यवाही की बात तो दूर मथुरा स्वास्थ विभाग भ्रस्टाचार के चलते लीपा पोती में लगा हुआ है।

इसका जीता जगता उदाहरण कैमरे में ली गई तस्वीर में आप साफ़ देख सकते है। जहाँ जिला हॉस्पिटल में खड़ी KD हॉस्पिटल की गाड़ी हुई थी। इस मामले में जैसे ही पूछने के लिए हमारी टीम आगे बढ़ी तो कैमरे की नजर से बचते हुए KD हॉस्पिटल के कर्मचारी भागते हुए तस्वीर में कैद हो गए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*