Home प्रशासन आगरा रेल मंडल में शुरू होगी पहली ‘किसान रेल’, दूसरे राज्यों में भेज सकेंगे अपनी फ़सल की उपज़

आगरा रेल मंडल में शुरू होगी पहली ‘किसान रेल’, दूसरे राज्यों में भेज सकेंगे अपनी फ़सल की उपज़

by admin
The first 'Kisan Rail' will start in Agra Railway Division, will be able to send the produce of their crops to other states
Spread the love

Agra. उत्तर मध्य रेलवे की पहली किसान रेल आगरा रेल मंडल से शुरू होने जा रही है। 6 सितंबर को किसान रेल यमुना ब्रिज रेलवे स्टेशन से शुरू होगी जो आसाम जाएगी। किसान रेल की जानकारी आगरा रेल मंडल के सीनियर डीसीएम अमन वर्मा ने दी। इस रेल के माध्यम से किसान अपनी फसल को दूसरे राज्यों में भेज सकेंगे।

किसानों की उपज को आसानी से दूसरे इलाके तक पहुंचाने के लिए 7 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने किसान रेल (Kisan Rail) योजना की शुरुआत की थी। किसान रेल योजना (Kisan Rail) के तहत किसानों की फसलों को दूसरे राज्य की मंडी तक पहुंचाना है जिससे किसान अपनी फसल को बेहतर मूल्य में बेच सके।

किसान रेल (Kisan Rail) ट्रेन समयबद्ध रास्तों पर चलती हैं और रास्ते में देरी से बचने के लिए उनके समय पालन पर बहुत सख्ती से नजर रखी जाती है। रेलवे के एक बयान में कहा गया है, “Kisan Rail से देश भर में फलों, सब्जियों और अन्य कृषि उत्पादों जैसे खराब होने वाले सामानों की तेजी से आवाजाही में मदद मिलती है।” किसान रेल (Kisan Rail) द्वारा फलों और सब्जियों के परिवहन को खाद्य प्रसंस्करण और उद्योग मंत्रालय द्वारा प्रभार्य टैरिफ पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाती है, ताकि किसान अपने उत्पादों के लिए बेहतर मूल्य पा सकें।

आगरा रेल मंडल के सीनियर डीसीएम अमन वर्मा ने बताया कि इस टीम की संचालन को लेकर तैयारियां कर ली गई हैं 6 सितंबर को यमुना ब्रिज स्टेशन से इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी। इस ट्रैन से अपनी फसल वह अपने उत्पादों को दूसरे राज्यों में भेजने वाले किसानों को माल भाड़े में सब्सिडी भी दी जाएगी। उत्तर मध्य रेलवे की यह पहली किसान रेल है जो आगरा रेल मंडल से शुरू हो रही है।

Related Articles