Home आगरा 25 हजार के इनामी सनी कबाड़िया की गिरफ्तारी को लगाई टीमें

25 हजार के इनामी सनी कबाड़िया की गिरफ्तारी को लगाई टीमें

by admin
Teams set up for the arrest of Sunny Kabadia, a reward of 25 thousand

आगरा (14 May 2022 Agra News)। सनी कबाड़िया पर 25 हजार का इनाम घोषित होने के बाद गिरफ्तारी को लगाई गई टीमें।

सनी कबाड़िया जगदीशपुरा थाना क्षेत्र के नगला गुलर क्षेत्र का रहने वाला है। बताते चलें कि अभी हाल ही में जिले के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने सनी कबाड़िया को आगरा पुलिस की ओर से ₹25000 का इनाम घोषित किया है। सनी कबाड़िया का मुख्य पेशा जगदीशपुरा और अन्य थाना क्षेत्रों में जुआ और सट्टा कराना है। एसएसपी आगरा के मुताबिक सनी कबाडिया पर जनपद आगरा में एक दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। जिसके ऊपर पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट की प्रभावी कार्यवाही की थी। बावजूद इसके जुए और सट्टे का अवैध व्यापार करते अवैध रूप से धन अर्जित करने वाले सनी कबाड़िया ने लाखों रुपए की संपत्ति भी बना ली है। जिसके चलते एसएसपी आगरा ने 25000 का इनाम घोषित कर दिया है। आगरा पुलिस को पकड़ने के लिए दिशा निर्देश भी जारी किए है।

कौन-कौन है सनी कबाड़िया का साथी

आगरा पुलिस का 25000 के इनामी और जुए सट्टे का अवैध व्यापार करने वाला सनी कबाडिया आगरा शहर के अंदर एक काम नहीं करता है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक सनी कबाड़िया के गैंग में कई लोग शामिल हैं जो जुए सट्टे का अवैध व्यापार करके अवैध रूप से संपत्ति खड़ी कर रहे हैं। पुलिस विभाग के आंतरिक सूत्रों के मुताबिक सनी कबाड़िया जुआ और सट्टे के अवैध व्यापार में इंद्रजीत, छुट्टन, अश्विनी बाबा और संदेश शामिल है जबकि पुलिस विभाग के अधिकारियों के मुताबिक जुएं और सट्टे के अवैध व्यापार में कुछ खाकी वर्दीधारी भी शामिल हैं जो इस काम में पार्टनर है।

बताया जा रहा है कि हाल ही में आगरा मथुरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित एक थाने में तैनात थानेदार का कारखास भी सनी कबाड़िया के अवैध व्यापार में लिप्त है। जिसकी एक बार में डांस करते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। जो विभाग के लिए चर्चा का विषय बनी हुई है और अधिकारी लगातार खाकी वर्दीधारियों को भी मॉनिटर कर रहे हैं।

स्थानीय स्तर पर कर रखी है सेटिंग

जानकारी में आया है कि जुआ और सट्टे का व्यापार करने वाले 25000 के इनामी सनी कबाड़िया ने स्थानीय स्तर के थाने पर भी सेटिंग कर रखी है। जहां खाकी वर्दीधारियों को महीनेदारी पहुंचती है। यही वजह है कि छापेमारी से पूर्व स्थानीय पुलिस को सूचना हो जाती है और पूरा गैंग नौ दो ग्यारह हो जाता है।

गैंग की गिरफ्तारी को लगाई गई टीम

पुलिस सूत्रों की माने तो अब पुलिस अधिकारी सनी कवाडिया और इस गैंग की कमर तोड़ना चाहते हैं। यही वजह है कि स्थानीय स्तर की पुलिस को सूचना न करके अब पुलिस अधिकारियों ने अपनी एक अलग से टीम का गठन किया है जो सनी कबाडिया और उसके गैंग का पर्दाफाश कके सलाखों के पीछे पहुंचाएंगे और इन को संरक्षण देने वालों पर भी पुलिस अधिकारी प्रभावी कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं। जिसमें कई खाकी वर्दीधारी और कलम के सिपाही भी शामिल हो सकते हैं।


Related Articles