संगोष्ठी में बच्चों को सिखाये बाल शोषण से बचने के तरीके

आगरा। सामाजिक बुराइयों को दूर करने के लिए कार्य कर रही तमाम एनजीओ के एक सांझा संगठन आगरा सोशल फोरम की ओर से बाल योन शोषण के प्रति बच्चों को जागरूक बनाने के लिए बाल संगोश्ठी का आयोजन किया गया। युथ होस्टल में आयोजित इस संगोश्ठी में उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संगठन के अध्यक्ष तुलाराम शर्मा, वर्ल्ड विज़न की रीता मेसी, चाइल्ड लाइन रितु, एफपीए के दीनबंधु और स्पीड सोसाइटी के चंद्रभान मौजूद रहे। इस संगोश्ठी का सुभारम्भ उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संगठन के अध्यक्ष तुलाराम शर्मा ने सभी के साथ दीप प्रज्ज्वलित करके किया।

जिसके बाद इस विचार गोश्ठी की सुरुआत की। संगोश्ठी में मौजूद बच्चों को मुख्यातिथियों ने बाल योन शोषण की जानकारियों उपलव्ध कराई की किस तरह से उनका योन शोषण किया जाता है। संगोश्ठी के दौरान शोषण होने की पहचान होते ही उसका विरोध करने पर जोर दिया और उसकी जानकारी अपने परिजनों को देने की बात कही।

वर्ल्ड विज़न की रीता मेसी ने प्रोजेक्टर के माध्यम से बच्चों को बाल योन शोषण की जानकारी दी और उन्हें समझाया कि उनका किस तरह से फायदा उठाया जाता है। इस गोश्ठी के दौरान ह्यूमन ट्रैफिकिंग को रोकने के लगे पुलिस कर्मियों ने भी पुलिस की ओर से बाल शोषण रोकने के उठाये जा रहे कदमो की जानकारी दी। और बच्चों को ऐसा होने पर किस तरह से पुलिस की मदद ले इसकी जानकारी दी।

विचार गोश्ठी के दौरान उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संघठन के बैनर तले छोटे छोटे बच्चों ने एक नाटक का मंचन किया इस नाटक के माध्यम से बच्चों को शिक्षित बनाने और बाल विवाह रोकने का संदेश दिया गया। जिससे बच्चे अपने अधिकारों के प्रति जागरूक बन सके। उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संघठन के अध्यक्ष का कहना था कि गरीब और अनाथ बच्चों का शोषण अधिक देखने को मिलता है क्योंकि वो शिक्षित नही होते इसलिये बाल शोषण को रोकने के लिए इस वर्ग के बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ना अनिवार्य है। चाइल्ड लाइन की रितु ने भी बच्चों के शोषण को रोकने के लिए हर संभव कदम उठाए जाने बात कही। इस दौरान आगरा सोशल फोरम के सभी सदस्यों ने बाल शोषण को रोकने के लिए जनजागरूकता अभियान चलाने पर जोर दिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*