Home क्राइम स्ट्रीट लाइट्स चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तार

स्ट्रीट लाइट्स चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तार

by admin
Street lights theft gang busted, three accused arrested
Spread the love

Agra. शहर में लगी स्ट्रीट लाइट्स चोरी होने की सूचना पर सदर थाना पुलिस ने तीन शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है। यह शातिर चोर दिन में रैकी करने के बाद तड़के चार से पांच बजे के बीच स्ट्रीट लाइट कप चोरी कर लिया करते थे। पूछताछ में आरोपियों में बताया कि चोरी की गई स्ट्रीट लाइट्स को कबाड़ियों को बेच दिया करते थे।

सदर थाना प्रभारी निरीक्षक अजय कौशल ने बताया कि सूचना मिल रही थी कि क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट्स चोरी हो रही हैं। इस सूचना पर रात को क्षेत्र में कई टीमें लगाई गईं जिसके बाद आरोपियों को पकड़ने में सफलता हाथ लग सकी । स्ट्रीट लाइट चोरी करने वाले गिरोह के तीन चोरों को पकड़ लिया गया है। इनमें पुरानी मंडी मोहल्ला निवासी सनी राठौर, सनी दीक्षित उर्फ बिहारी और गुम्मट निवासी विनोद हैं। सनी मूलरूप से औरैया का रहने वाला है। यहां किराए पर कमरा लेकर रहता है। उसके पास से तीन एलईडी लाइट्स, 11 हत्थे एल्युमीनियम, छह प्लेट स्टील, तीन लाइट्स के पार्ट, तीन गोल्डन कलर कैप बरामद की गईं हैं।

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि जिस स्थान पर लाइट्स चोरी करनी होती थीं वहां तड़के चार बजे पहुंचते थे। इस समय पुलिस की गश्त भी कम हो जाती है। अपने साथ एक सीढ़ी भी रखते थे। यदि कोई व्यक्ति टोकता है तो उससे कहते थे लाइट सही करने आए हैं। पुरानी लाइट हटाकर नई लगाएंगे। इसके बाद चोरी की गई लाइट्स को ताजगंज क्षेत्र के कबाड़ियों को बेच देते थे। इस दौरान आरोपियों ने बताया कि पांच हजार की लाइट 500 से एक हजार रुपये में बिक जाती थी।

थाना सदर प्रभारी निरीक्षक अजय कौशल ने बताया कि आरोपी तीन महीने से लाइटें चोरी कर रहे हैं। अब तक करीब 70 लाइटें चोरी कर चुके हैं। सबसे ज्यादा फतेहाबाद और माल रोड पर लगी स्ट्रीट लाइटें चोरी हुई हैं। मोहल्ले और गलियों में भी घूमते थे। आशंका है कि संबंधित विभाग के कर्मचारी स्ट्रीट लाइटें चोरी होने का मामला छिपा लेते थे। इस बारे में विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखकर जानकारी की जाएगी।

Related Articles