संक्रमक रोग के रोकथाम के लिए चलेगा विशेष अभियान, घर-घर दस्तक देंगी आशा बहुएं

आगरा। विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिए अंर्तविभागीय समन्वय बैठक बुधवार को डीएम सभागार आगरा में आयोजित की गई। पहली बार शुरू हो रहे दस्तक अभियान को गति देने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं। मीटिंग में दस विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने हिस्सा लिया।
बैठक की अध्यक्षता डीएम प्रभु एन सिंह ने की।

डीएम पी.एन सिंह ने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान एक मार्च से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा। इसमें दस्तक अभियान का पार्ट 15 से 31 मार्च तक है। संचारी अभियान में पिछले साल काफी सफलता मिली थी। पिछले साल पूरे यूपी में दस्तक अभियान चला था पर अभियान में आगरा शामिल नहीं था। दिमागी बुखार से मृत्यु से काफी ज्यादा लोगों की मौत हो जाती थी। ऐसे में उसे रोकने के लिए दस्तक अभियान को शुरू कर सफलता पाई जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि साफ-सफाई, जलभराव रोकने व शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाए। सभी विभाग व्यवहार परिवर्तन और प्रचार-प्रसार की व्यापक योजनाएं बनाएं, जिससे जनसामान्य तक सभी जानकारियों की सुलभता सुनिश्चित की जा सकें।

सीएमओ डा.मुकेश कुमार वत्स ने बताया कि अभियान के तहत जो भी गतिविधियां होगी, उसका जन साधारण के बीच प्रचार-प्रसार कर दिया। पूरे जन समूह को शामिल कर उसे लाभ देना है। उन्होंने निर्देश दिए कि यह एक महीने तक पखवाड़ा चलेगा और मानसिक रूप से जनसमूह के बीच निरंतर अभियान चलते रहना चाहिए। सीएमओ ने कहा कि आरोग्य मेले में जनसमुदाय को जागरूक करें। मेले में बैनर और पोस्टर के माध्यम से जनसंचारी अभियान के बारे में जानकारी दें। समुदाय को मच्छर से होने वाली बीमारियों के बारे में जागरूक करें।

जिला मलेरिया अधिकारी आर.के दीक्षित ने बताया कि मच्छर जनित प्रजातियों को खत्म करने के लिए समुदाय का सहयोग जरूरी है। कूड़ा के निस्तारण कर जलभराव न होने दें। जल निकासी नियमित हो। अपने क्षेत्रों में आसपास के प्रमुख लोगों का दायित्व है कि अपने ढंग से साफ-सफाई कराएं। उन्होंने बताया कि संचारी रोग को समुदाय में जागरूकता लाकर खत्म किया जा सकता है। आशाएं घरों में जाकर महिलाओं से बात करेंगी। उन्हें बताएगी कि पानी को जमा नहीं होने दें। आशा बहुओं को घरों में जाकर सात प्रश्नों पर बात करना है। घर में प्रवेश करने पर मुखिया से बात करेंगी। उनके घर का निरीक्षण कर पूछेगी कि बुखार का रोगी तो नहीं है। बुखार का रोगी मिलता है तो जांच करेगी।

नोडल अधिकारी डिप्टी सीएमओ डा.अग्निहोत्री ने बताया कि सरकार ने यूपी में यह अभियान चलाने का निर्णय लिया है। इसमें विभागीय रूप से गतिविधियां चला रहे थे। जन सामान्य की सहभागिता को बढ़ाकर दस्तक अभियान के अंतर्गत हर परिवार के बीच पहुंचकर जागरूक किया जाएगा। उन्होंने जानकारी दी कि आगरा के अंदर 50 हजार की जनसंख्या पर एक पीएचसी है। दो से ढाई लाख पर सीएचसी है। एक विशाल जिला अस्पताल 50 लाख की जनसंख्या पर बना है, साथ ही एक मेडिकल कालेज भी है जिसकी यूपी में जानी-मानी ख्याति है।

बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग व ग्राम विकास विभाग, पशु पालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, दिव्यांग जन सशक्तिकरण व समाज कल्याण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के अधिकारी शामिल रहे।

About admin 3490 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।