देखिये इस बेटी की बहादुरी, नहीं मानी हार

आगरा। घटनाक्रम 25 जनवरी का है जब सड़क से गुजरती एक युवती के साथ एक्टिवा सवार दो लड़कों ने सरेआम छेड़छाड़ की।

छेड़छाड़ करने वाले आरोपी सरेआम सड़क पर सेल्फी के अंदाज में फोटो खिंचाते हुए फरार हो गए मगर अपनी लोक लाज बचाने के साथ-साथ समाज के ऐसे घिनौने चेहरों को सबक सिखाने के लिए युवती ने बहादुरी दिखाई और हार नहीं मानी।

हालांकि इस मामले में युवती की जितनी बढ़ाई हो रही है। उतनी बदनामी भी आगरा पुलिस की हुई है। छेड़छाड़ के बाद युवती ने तुरंत वुमन पावर हेल्पलाइन को फोन किया मगर वुमन पावर हेल्पलाइन ने युवती के साथ इस घटनाक्रम को ठंडे बस्ते में डाल दिया।

हरीपर्वत थाना क्षेत्र में हुई इस घटना में युवती को हरीपर्वत पुलिस की भी कोई मदद नहीं मिली। धीरे-धीरे 4 दिन बीत गए। युवती ने अपने इस दर्द को बयान करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया और Facebook पर पूरी घटना लिखकर इन आरोपियों को सबक सिखाने के लिए जंग छेड़ दी।

मैं तो चला था अकेला ही मंजिल की ओर, लोग जुड़ते गए और कारवां बनता चला गया। यही हुआ इस युवती के साथ। धीरे-धीरे सोशल मीडिया पर लाइन बनती चली गई और समर्थकों ने इस मैसेज को आगे बढ़ाना शुरू कर दिया।

वुमन पावर हेल्पलाइन के आईजी नवनीत सिकेरा ने ट्विटर पर आगरा पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिए और तत्काल प्रभाव से 2 ऑपरेटरों को हटा दिया गया। इसके बाद आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने तत्काल हरीपर्वत को पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिए।

एएसपी श्लोक कुमार के नेतृत्व में लगी पुलिस टीम ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपी कोतवाली के रहने वाले हो उबेद और साबाद है। फिलहाल हरीपर्वत पुलिस ने युवती की तहरीर पर 354 का यानी छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कर लिया है और दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

युवती की बहादुरी और साहस उन बच्चियों के लिए भी नसीहत है जिनके साथ सड़क पर सरेआम आये दिन ऐसे घटनाक्रम होते हैं और बच्ची डर कर घर बैठ जाती हैं या चुप रहती हैं। यानि अब आप को डरने की जरूरत नहीं है। सोशल मीडिया आपके लिए हौसला अफजाई कर रही है तो वहीं अधिकारी भी सोशल मीडिया पर लगातार कार्यवाही के निर्देश दे रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*