एससी आयोग उपाध्यक्ष से अभद्रता मामले में कांग्रेस व बसपा नेता को मिली जमानत

आगरा। मंटोला में एससी आयोग के उपाध्यक्ष एल मुरुगन से अभद्रता मामले में जेल गए अखिल भारतीय कोली कोरी समाज और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नंदलाल भारती और बसपा नेता अशोक माहौर को कोर्ट से राहत मिल गयी। कोर्ट ने दोनों के जमानत मंजूर कर ली और देर शाम दोनो लोग जिला जेल से रिहा कर दिए गए। कांग्रेस नेता नंदलाल भारती की देर शाम रिहाई होने से कांग्रेस कार्यकर्ता भी जिला जेल पहुँच गए। कांग्रेसियों ने नंदलाल भारती का जोरद्वार स्वागत भी किया गया।

कांग्रेस नेता नंदलाल भारती और अशोक माहौर पर आरोप था कि गुरुवार को जब एससी आयोग के उपाध्यक्ष एल मुरुगन मंटोला की दलित बस्तियों की स्थिति देखने गए तब नंदलाल भारती ने अपने समर्थकों के साथ उनका विरोध कर उनके साथ अभद्रता की और सरकारी कार्य मे बाधा डाली। जिस पर पुलिस ने कार्यवाही कर उन्हें जेल भेजा था।

नंदलाल भारती के वकील रामदत्त दिवाकर ने इस मामले को झूठा बताते हुए तर्क दिए जिस पर कोर्ट ने दोनों की जमानत मंजूर कर ली।

इस दौरान नंदलाल भारती का कहना था कि हमने कोई विरोध नही किया बल्कि एससी आयोग के उपाध्यक्ष से मंटोला की वास्तविक दलित बस्तियों को देखने का आग्रह किया था लेकिन राजनीतिक दबाब के कारण वो नही गए।

इस दौरान अनवार सिद्दीकी, अजय वाल्मीक, प्रेमपाल सिंह, माया माहौर, गुडडू चौधरी, चंद्रावती वर्मा, मुन्ना लाल कुशवाह और अर्जुन कुशवाह मौजूद रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*