राहुल-प्रियंका गांधी सेना ने बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया पीएम का जन्मदिन, रोजगार कार्यालय को दी श्रद्धांजलि

आगरा। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को आगरा राहुल-प्रियंका गांधी सेना कांग्रेस ने बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। गुरुवार को संस्था के पदाधिकारी सांई की तकिया स्थित रोजगार दफ्तर पहुँचे और रोजगार दफ्तर को बंद कर कोरोना जांच केंद्र बनाये जाने पर नाराजगी व्यक्त की। सेना के कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी कर अपना विरोध दर्ज कराया और रोज़गार दफ्तर पर ज्ञापन चस्पा कर दफ्तर पर माला चढ़ा कर उसको श्रद्धांजलि अर्पित की।

राहुल प्रियंका गांधी सेना कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष हाजी जमील उद्दीन कुरैशी ने कहा कि पिछले 6 वर्षो में बेरोजगारी अपने चरम पर पहुंच गई है। युवा वर्ग परेशान है। युवा पूरी तरीके से हताश और निराश हो चुका है और पीएम मोदी युवाओं को रोजगार न देकर अपने मन की बात कर रहे हैं। 2016 से 53% सरकारी नौकरियां समाप्त हो गई है और अभी भी गिरावट का दौर जारी है। सरकारी संस्थाओं का या तो निजीकरण हो रहा है या फिर अंबानी और अडानी को बेचा जा रहा है।

प्रदर्शन के दौरान नवीन वर्मा ने कहा बड़ी शर्म की बात है कि आगरा में जब रोजगार दफ्तर ही बंद कर दिया गया तो युवाओं को रोजगार कहां से मिलेगा। अब रोजगार सृजन की क्षमता खो चुकी है और युवा वर्ग में भारी आक्रोश एवं असंतोष है जबकि 94% असंगठित क्षेत्र में कार्यरत थे उनकी दशा और भी खराब है।

महानगर अध्यक्ष दिनेश सिंह भानु ने कहा कि बेरोजगारी की दर 5.2 से बढ़कर 8.5 प्रतिशत पर आ गई है। शेष सरकारी नौकरियां पर भी संकट है। उत्तर प्रदेश सरकार की फिर एक नई गलत नीति आ रही है जिसमें युवाओं को पहले 5 वर्ष तक संविदा पर रखा जाएगा जिसमें पक्षपात की पूरी संभावना है। शीर्ष अधिकारी चाहेंगे उन्हें संविदा पर कार्यकाल पूर्ण करा लेंगे अन्यथा निकाल देंगे। वह बेरोजगारों को फिर अयोग्य हो जाएगा। मोदी जी योगी जी की इस नीति को राहुल प्रियंका गांधी सेना किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी।

About admin 4805 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।