कांग्रेस ने लगाई विपक्षी दलों में सेंध, डेढ़ दर्जन किसान संगठनों ने दिया राज बब्बर को समर्थन

आगरा। फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट का चुनाव इस समय सबसे हॉट सीट का चुनाव बन चुका है जो दिन प्रतिदिन रोचक बनता चला जा रहा है। क्योंकि इस सीट को जीतने के लिए कांग्रेस और भाजपा ऐड़ी चोटी का जोर लगये हुए है। इसलिए दोनों दलों के नेता एक दूसरे के दल के साथ अन्य दलों में सेंधमारी करने में लगे हुए है।

सोमवार को फतेहपुर सीकरी लोकसभा से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी व प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने राजपुर चुंगी स्थित चौधरी गार्डन किसानों से रूबरू हुए जिसमे एक साथ 17 किसानों का समर्थन जुटाया और इस दौरान कई किसान नेताओं के साथ साथ सपा और अन्य दलों के नेताओं को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कराई। विधानसभा अध्यक्ष और किसान नेता राजवीर लवानिया, सपा के पूर्व कार्यालय प्रभारी और जिला सचिव के साथ किसान नेता सोमबीर यादव भी साइकिल से उतरकर हाथ के साथ आ गए वही किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने भी अपने साथियों के साथ राजब्बर का समर्थन में खड़े नजर आये। एक साथ 17 किसान संगठनो का समर्थन जुटाकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजब्बर ने सबसे बड़ा झटका भाजपा के फतेहपुर सीकरी प्रत्याशी राजकुमार चाहर को दिया है। क्योंकि भाजपा प्रत्याशी अपने आप को किसान नेता कहते थे और यही कहकर वो अभी तक लोगों के बीच मे थे।

किसान संगठनो के राजब्बर को समर्थन देने से साफ कर दिया है कि भाजपा प्रत्याशी की राह आसान नही है। इस दौरान किसान नेता श्याम सिंह चाहर के कहा कि उन्होंने कांग्रेस को नहीं राज बब्बर को समर्थन किया है और राज बब्बर ने चुनाव जीतने के बाद किसानों की लड़ाई लड़ने और उनका अधिकार दिलाने का आश्वासन दिया है।

सपा के ग्रामीण विधानसभा अध्यक्ष राजवीर लवानिया का कहना था कि राज बब्बर की नीतिया और संघर्ष को देखते हुए उन्होंने अपना समर्थन दिया है। अन्य किसान नेताओं का कहना था कि मोदी सरकार के किसानों के लिए किए गए वायदे और दावों में तमाम अंतर है। केंद्र की मौजूदा मोदी सरकार किसान विरोधी है। ऐसे में वह राज बब्बर को अपना समर्थन कर रहे हैं।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजब्बर का कहना था कि आज किसानों ने अपना समर्थन देकर मेरी जीत सुनिश्चित की है। किसानों ने जो भरोसा जताया है उस लड़ाई को हर स्थिति में लड़ा जाएगा और किसानों को उनका हक दिलाया जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*