Home क्राइम ‘ऑपरेशन पहचान’ एप कसेगा सॉल्वरों पर शिकंजा, नहीं मिलेगी नौकरी

‘ऑपरेशन पहचान’ एप कसेगा सॉल्वरों पर शिकंजा, नहीं मिलेगी नौकरी

by admin
'Operation Pehchan' app will tighten the screws on solvers, will not get jobs anywhere
Spread the love

आगरा। भर्ती परीक्षा में दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने वाले सॉल्वरों का भविष्य खतरे में है। उनको सरकारी के साथ प्राइवेट नौकरी भी मिलना मुश्किल होगा। पुलिस की नजर हमेशा उन पर रहेगी। किसी भी सरकारी परीक्षा से पहले घर पर पुलिस दस्तक देंगी। ऐसे सॉल्वरों की कुंडली ऑपरेशन पहचान एप पर तैयार होगी, जिसके माध्यम से शिकंजा कसा जाएगा।

सेना भर्ती, सिपाही भर्ती या जीडी परीक्षा सभी में सॉल्वर पकड़े जा रहे हैं। कई युवा अपना भविष्य कुछ रुपयों की खातिर दांव पर लगा रहे है। अब पुलिस विभाग ने इन पर शिकंजा कसने की तैयारी की। इसके लिए ऑपरेशन पहचान एप तैयार किया गया है। इस एप में सॉल्वरों का रिकॉर्ड सुरक्षित रखा जाएगा। किसी भी परीक्षा से पहले इन सॉल्वरों के घर पर पुलिस दस्तक देने पहुंचेगी। कोई भी प्रमाण पत्र बनवाने में इनके मुकदमे का जिक्र किया जाएगा।

एडीजी जोन राजीव कृष्णा ने बताया कि पुलिस विभाग के दस साल का रिकॉर्ड सुरक्षित है। इससे हर अपराधी का आसानी से पता मालूम हो जाता है। कई होशियार युवा दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने आ जाते है। अब ऐसा करने में मुश्किल होगी। सॉल्वर के रूप में पकड़े जाने पर मुकदमा होगा। उसके साथ सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी। प्राइवेट नौकरी में सत्यापन होने पर मुकदमे का जिक्र पुलिस करेगी। हर प्रमाण पत्र में मुकदमे की जानकारी उल्लेख की जाएगी। कोई भी लाइसेंस लेने पर अपराध की जानकारी दी जाएगी।

अगर आप हमारे न्यूज़ ब्रेकिंग के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ना चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करके हमें सपोर्ट करें, धन्यवाद…

https://chat.whatsapp.com/LaErqf25r0FDcVNYJTZMo9

Related Articles