खुले आम हो रही है अवैध वसूली, वीडियो वायरल

मथुरा। उत्तर प्रदेश सरकार के लाख कवायदों के बाद भी पुलिस प्रशासन में कोई बदलाव नजर नहीं आ रहा है। पुलिस प्रशासन भले ही सरकार को यह दिखाने का प्रयास करे कि पुलिस कर्मी अवैध वसूली और भ्रष्टाचार पर लगाम लगा रहे हो लेकिन पुलिस के कारनामे कुछ और ही बयां कर रहे है। पुलिस कर्मी खुलेआम रिश्वत ले रहे है जिन्हें न तो सरकार का डर है और ना ही प्रशासन का खौफ। कई वीडियो भी वायरल हो रही है जबकि पुलिस अधिकारियो के दावे इन तस्वीरों को देखकर तो फेल होते नजर आ रहे हैं। प्रदेश में योगी राज्य है और पुलिस के ये नुमाइंदे बेखोफ होकर लगे अपनी अवैध वसूली में लगे हुए है।

ऐसा ही मामला मथुरा के थाना राया में देखने को मिला। जहां पुलिस की दबंगई नगर में खुले आम चल रही है और इस सबके सामने आम व्यक्ति बेबस है। सामने खड़ी यह गाड़ी सरकारी है उस में बैठने वाले भी सरकारी लोग ही हैं फर्क इतना है कि यह सरकारी वह लोग है जो खाकी वर्दी पहनते है जिनके कंधो पर समाज की रक्षा का दायित्व है लेकिन देखिये यह कैसे खुलेआम वसूली कर रहे हैं।

इस जीप में सिपाही और दरोगा हैं जो एसएसपी के आदेश पर रात में चेकिंग अभियान चला रहे है लेकिन इस अभियान के शुरु होते ही थाना राया में अवैध वसूली का खेल शुरू हो जाता है। जब गाड़ियों को चेकिंग के दौरान रोका जाता है तो दरोगा जी आराम से अपनी ड्यूटी पूरी करते हैं। सरकार की नहीं बल्कि अपनी जेब की।

कैमरे में कैद ये दृश्य है मथुरा अलीगढ़ रोड राया तिराहे का जहा चेकिंग चल रही है और ट्रक को जबरदस्ती रोक रखा है। सिर्फ इसलिए कि दरोगा जी को अभी तक दक्षिणा नहीं मिली है और किस कदर ट्रक पर चढ़कर सिपाही ड्राइवर को हड़का रहे है और दवाब बना रहे हैं कि जल्दी करो नही तो बंद कर दूंगा। जब ट्रक बाले ने अपना दुखड़ा भी रोया कि कितनी जगह पैसे दें मगर राया के ये पुलिस कर्मी माने भी तो क्यों माने जो आदमी किराए पर रखे हुए हैं उनके लिए पैसा कहां से आएगा। जो कि इनके साथ वसूली का कार्य बखूबी करते आ रहे हैं जबकि आसपास का मार्केट भी खुला हुआ है।

जब दुकानदारों की नजर इस अभियान पर पड़ी तो थोड़ा सा विरोध देखने को मिला। वहीं दरोगा जी ने इसको दूसरे रूप में दुकानदारों को भी हड़काया और मार्केट बंद करने की धमकी दे डाली। क्योंकि इस अवैध वसूली के विरोध में दुकानदार भी खड़े हो गए मगर दरोगा जी कप्तान साहब के आदेश का पालन बताकर दुकानदारों को चुप कराते नजर आए।

जब मीडिया को इस घटना की जानकारी हुई और यह मामला थाना राया के sho तक पहुंचा तो उन्होंने घटना से अनजान होते हुए कार्यवाही की मांग की। जबकि लोग इन दरोगा जी की अवैध वसूली से बुरी तरीके से प्रताड़ित हो चुके हैं।

लोगों का साफ तौर पर कहना है कि यह शिकायत SSP महोदय को दी जाएगी जबकि इस रास्ते से पशु की गाड़ियां बहुत सारी अक्सर निकलती रहती है जिनसे यह खेल कोई नया नहीं है मगर दरोगा जी यह भूल गए कि आप कैमरे में कैद हो रहे हैं।

अब देखना होगा कि पुलिस के इन नुमाइंदों के खिलाफ SSP क्या कार्यवाही करते हैं और राया बाजार वासियों को इनके कहर से राहत किस तरह दिलवा पाते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*