धन्ना को न्याय दिलाने के लिए सड़कों पर उतरा निषाद समाज, विधायक की हुई नोंकझोंक

Nishad Samaj, MLA's outrage, took to streets to provide justice to Dhanna

पिनाहट। शराब के आरोप में जेल भेजे गए ढाबा संचालक की जेल में हालात बिगड़ने पर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई जिस पर परिजनों ने पुलिस प्रशासन पर थर्ड डिग्री का आरोप लगाया है। निषाद समाज के लोगों ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जैतपुर चौराहे पर जाम लगा दिया और जिले भर के निषाद समाज के लोगों ने धरना प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। जाम व धरना प्रदर्शन की सूचना पर एडीएम आगरा व एसपी ग्रामीण पूर्वी बाह, फतेहाबाद, पिनाहट सर्किल का फोर्स व भारी संख्या में पीएसी फोर्स पहुंच गया। सूचना मिलते ही पूर्व मंत्री व फतेहाबाद विधायक भी मौके पर पहुंच गए और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर कार्रवाई का आश्वासन दिया।

विधायक वापस जाओ के लगे नारे-

जैतपुर चौराहे पर शव रखकर जाम लगने की सूचना मिलते ही पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा महेंद्र अरिदमन सिंह व फतेहाबाद विधायक जितेंद्र वर्मा अपने समर्थकों के साथ जैतपुर पहुंच गए और आक्रोशित ग्रामीणों को समझा बुझाना शुरू कर दिया। इसी दौरान शरारती तत्वों ने भाजपा विधायक वापस जाओ के नारे लगा दिए। इसी बात को लेकर विधायक जितेंद्र वर्मा की शरारती तत्वों से नोकझोंक हो गई। विधायक के दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हो गए और करीब 6 घन्टे बाद जाम खोल दिया।

यह थी घटना-

जानकारी के अनुसार 26 मार्च को अवैध शराब में गिरफ्तार जैतपुर के ढाबा संचालक धर्मेन्द्र उर्फ धन्ना 28 की जेल में हालत बिगडने पर रविवार की शाम दिल्ली के हास्पीटल में मौत हो गई थी। बुधवार देर रात पोस्टमार्टम के बाद धन्ना का शव घर पर पहुंचा। तो परिजन और आसपास के लोगों का गुस्सा फूट पडा और आक्रोशित निषाद समाज के लोगों ने जैतपुर चौराहे पर धन्ना का शव रख जाम लगा दिया। जाम लगाने व धरना प्रदर्शन की सूचना मिलते ही एडीएम आगरा निधि श्री वास्तव व एसपी ग्रामीण पूर्वी के अशोक बैंकटश बाह, फतेहाबाद, पिनाहट सर्किल का फोर्स व पीएसी मौके पर पहुंच गयी।

सुबह से शाम तक बंद रहा जैतपुर कस्बा बाजार-

सुबह से चले धरना प्रदर्शन व जाम के चलते जैतपुर कस्बा का बाजार सुबह से शाम तक बंद रहा। भारी संख्या में पुलिस फोर्स होने के चलते अफरा-तफरी का माहौल बना रहा।एक बार तो हालात बिगड़ते बिगड़ते बच गए। अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने भागना दौड़ना शुरू कर दिया जिसमें कुर्सियां भी टूट गयी। प्रशासनिक अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया।एडीएम निधि श्रीवास्तव व एसपी ग्रामीण के अशोक बैंकटश ने सूझ बूझ से स्थिति को संभाला।

ये हैं मृतक के परिजनों की मुख्य मांगे-

मृतक के परिजनों की मांग है कि दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज हो और उन्हें कार्रवाई कर जेल भेजा जाए। मृतक की पत्नी को आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाए। मृतक के बच्चों को एक सरकारी नौकरी दिलाई जाए और मृतक के लिए सरकारी आवास दिलाया जाए। इन्हीं मांगों पर को लेकर मृतक के परिजन का शव रखकर जाम लगाए हुए थे।

फतेहाबाद विधायक जितेंद्र वर्मा ने पांच लाख और पूर्व कैबिनेट मंत्री महेंद्र अरिदमन सिंह ने दिया एक लाख का चेक:-

फतेहाबाद विधायक जितेंद्र वर्मा ने मृतक की पत्नी को पांच लाख रुपये का व पूर्व कैबिनेट मंत्री राजा महेंद्र अरिदमन सिंह ने एक लाख रुपये का आर्थिक सहायता चेक दिया है।

About admin 6474 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।