Home प्रशासन ‘मेयर को बोलो’ कार्यक्रम में मेयर नवीन जैन ने फ़ोन पर सुनी समस्याएं, 3 दिन में समाधान का आश्वासन

‘मेयर को बोलो’ कार्यक्रम में मेयर नवीन जैन ने फ़ोन पर सुनी समस्याएं, 3 दिन में समाधान का आश्वासन

by admin
Mayor Naveen Jain listened to problems on phone in 'Speak to Mayor' program, assures solution in 3 days
Spread the love

आगरा। शिकायतकर्ता – हेलो मेयर साहब बोल रहे हैं,
मेयर – हां जी मैं बोल रहा हूं।
शिकायतकर्ता – नमस्कार मेयर साहब, मैं शाहगंज से कन्हैया लाल गर्ग बात कर रहा हूं। मैंने 7 दिन पहले ऑनलाइन हाउस टैक्स जमा करवाया था लेकिन अभी तक वह कंप्यूटर पर चढ़ा नहीं है। कृपया समाधान करवाएं।
मेयर – ठीक है मेरे अधिकारी नोट कर रहे हैं, हम आपकी समस्या दिखवाते हैं…
कुछ मिनट बाद
मेयर – कन्हैया लाल जी, आप कंप्यूटर पर दोबारा चेक करें कि आपका ऑनलाइन जमा कराया हुआ टैक्स चढ़ गया या नहीं।
शिकायतकर्ता – हाँ जी साहब ऑनलाइन चढ़ गया है। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, जो आपने मिनटों में ही हमारी समस्या का समाधान करा दिया।

दरअसल यह नजारा स्मार्ट सिटी ऑफिस में आज से शुरू हुए ‘मेयर को बोलो’ कार्यक्रम का था। जिसमें महापौर नवीन जैन फोन के माध्यम से सीधे जनता से संपर्क कर उनकी समस्याएं सुन रहे थे और संबंधित अधिकारियों को तत्काल नोट करा रहे थे।

आज सोमवार को स्मार्ट सिटी में हुए ‘मेयर को बोलो’ कार्यक्रम में शहर वासियों ने अपने अपने क्षेत्र की गंदगी, सीवर, स्ट्रीट लाइट, डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन, जलभराव, नाली आदि से जुड़ी समस्याओं से अवगत कराया। महापौर नवीन जैन ने स्वयं फोन रिसीव कर समस्याओं को सुना और मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को पीड़ित के नाम और फोन नंबर के साथ समस्या समाधान के निर्देश देते रहे।

अंतराम की बगीची, रामबाग से सागर वार्ष्णेय ने महापौर को फोन पर बताया कि वार्ड 66 में चीनी रोजा के बराबर से खाली प्लॉट पर काफी मात्रा में कूड़ा करकट पड़ा हुआ है। वे पिछले 3 साल से इसकी शिकायत कर रहे लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ। महापौर ने संबंधित अधिकारी और सैनिटरी इंस्पेक्टर को आड़े हाथों लिया और 24 घंटे के अंदर सफाई करने के निर्देश दिए। कालिंदी विहार 100 फुटा रोड, राधा गार्डन से गौरव ने स्ट्रीट लाइट की समस्या बताई। कैलाश रोड, सिकंदरा से गुंजन कुमार ने बताया है कि पिछले 5 महीने से गंगाजल की पाइप लाइन लीक हो रही है। सिकंदरा स्थित वाटर वर्क्स में कई बार शिकायत की लेकिन सुनवाई नहीं हुई। महापौर ने इस शिकायत को गंभीरता से लिया और संबंधित अधिकारी से तत्काल लीकेज रोकने के निर्देश दिए। आवास विकास सेक्टर 6 सी से बृजमोहन ने जलभराव और मच्छर होने की शिकायत की तो वहीं पश्चिम पुरी काली मंदिर के पास निवासी अर्पित कुलश्रेष्ठ बताया कि यहां पर अवैध बाड़ा बना हुआ है, गोबर कूड़ा नाले में बहाया जाता है और मच्छर की काफी समस्या है।

ट्रांसपोर्ट नगर स्टेट बैंक के पास से योगेंद्र सिंह ने अतिक्रमण और जलभराव की समस्या रखी। वार्ड 67 गूलर का नगला से भूपेंद्र प्रकाश ने सीवर लाइन डैमेज और मेनहोल चौक की समस्या रखी। गुड़ की मंडी से मदन बंसल ने सड़क पर गड्ढे और स्ट्रीट लाइट खराब होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले तीन-चार महीने से वे लगातार शिकायत कर रहे हैं। डिफेंस कॉलोनी सेवला जाट, वार्ड 15 से राकेश कुमार ने समस्या रखी कि उनकी कॉलोनी में नाली ही नहीं बनी है। महापौर ने इन सभी समस्याओं को संज्ञान में लेते हुए संबंधित अधिकारियों को समाधान कराने के निर्देश दिए।

मीडिया से मुखातिब होते हुए महापौर नवीन जैन ने कहा कि जनता से सीधे जुड़ने और उनकी समस्याओं का समाधान कराने के उद्देश्य ‘मेयर को बोलो’ कार्यक्रम की शुरुआत की है जिसमें पहले दिन हमने (एक घंटे में) 3 से 4 बजे तक लगभग 33 फोन अटेंड किए हैं और उनकी समस्याओं को सुना गया है। लोगों ने जो भी समस्याएं बताई हैं उनको स्वयं मैंने भी नोट किया है और संबंधित अधिकारियों को भी नोट कराया है। समस्या समाधान के लिए सभी अधिकारियों को 3 दिन का समय दिया गया है। हर हाल में अधिकारियों को समस्या का समाधान करना होगा।

वहीं नगर आयुक्त निखिल टीकाराम में सभी अधीनस्थों को कड़े शब्दों में निर्देश दिए कि आज ‘मेयर के बोलो’ कार्यक्रम में जितनी भी समस्याएं आई है, तय समय में उन सभी समस्याओं का समाधान हो जाना चाहिए। जब हम अगले कार्यक्रम में बैठेंगे और उससे पहले अगर कोई समस्या का समाधान करने में असफल रहा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। संतोषजनक जवाब न मिलने पर निलंबन की भी कार्रवाई की जा सकती है।

इस कार्यक्रम के दौरान दोनों अपर नगर आयुक्त विनोद कुमार गुप्ता और के बी सिंह, सहायक नगर आयुक्त अनुपम शुक्ला, मुख्य अभियंता निर्माण बीएल गुप्ता, मुख्य अभियंता (विद्युत/यांत्रिक) संजय कटियार, जलकल जीएम आर एस यादव, अधिशासी अभियंता आशीष शुक्ला और अजीत कुमार, नगर स्वास्थ्य अधिकारी अतुल भारती, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ सतवीर सिंह डागुर, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी रोहन सिंह, कर निर्धारण अधिकारी सी पी सिंह विजय कुमार, एससी भारती, संपत्ति अधिकारी विजय कुमार, वबाग से नेटवर्क मैनेजर तनवीर शर्मा, सहायक अभियंता एस के ओझा के अलावा जेई, जेडएसओ, सेनेटरी इंस्पेक्टर आदि मौजूद रहे।

Related Articles