‘लुंगी’ के आगे एक न चली इंडिया टीम की

साउथ अफ्रीका ने भारत को दूसरे मुकाबले 135 रनों से हराते हुए 3 मैचों की टेस्ट सीरीज 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है। केप टाउन में खेले गए पहले टेस्ट में भारत 72 रनों से हार गया था। विराट कोहली की कप्तानी में यह पहली टेस्ट सीरीज हार है। सेंचुरियन में खेले गए मुकाबले में 5वें दिन भारत को जीत के लिए 287 रनों का टारगेट मिला था। वह 52 ओवर में सभी विकेट खोकर 151 रन ही बना सकी। भारत के लिए सबसे अधिक रोहित ने 47 रन बनाए, जबकि साउथ अफ्रीका के लिए लुंगी गिडी ने अपने डेब्यू टेस्ट में ही 6 विकेट झटके, वहीं कगिसो रबाडा ने 3 विकेट चटकाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और एक बार फिर उसने 16 रन तक ही दोनों सलामी बल्लेबाजों मुरली विजय (09) और लोकेश राहुल (04) के विकेट गंवा दिए। रबाडा की नीची रहती गेंद पर विजय सही समय पर भांपने से चूक गए, जबकि राहुल ने गिडी की गेंद पर बेहद खराब शॉट खेलकर बैकवर्ड पॉइंट पर केशव महाराज को कैच थमाया। पहली पारी के शतकवीर कप्तान विराट कोहली भी इसके बाद 20 गेंद में 5 रन बनाने के बाद गिडी की गेंद पर पगबाधा हो गए।

चौथे दिन के नाबाद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और पार्थिव पटेल कुछ खास नहीं कर सके। पुजारा रन आउट हुए, जबकि पार्थिव रबाडा की बॉल पर मोर्कल के हाथों लपके गए। इन दोनों बल्लेबाजों ने 19-19 रन बनाए। चौथे दिन का खेल खत्म होने पर चेतेश्वर पुजारा 11 जबकि पार्थिव पटेल 5 रन बनाकर खेल रहे थे। बता दें कि मैच में पुजारा के नाम शर्मनाक रेकॉर्ड दर्ज हुआ। दोनों पारियों में रन आउट होने वाले वह पहले भारतीय क्रिकेटर हैं। टीम इंडिया संभल पाती इससे पहले ही लुंगी गिडी ने पहले रविचंद्रन अश्विन (3) और हार्दिक पंड्या (6) को आउट कर दिया। इन दोनों का कैच क्विंटन डि कॉक ने लिया। अब स्कोर 7 विकेट पर 87 रन हो गया। रोहित शर्मा ने अच्छी बैटिंग की, लेकिन वह 47 रन बनाकर चलते बने। उन्हें रबाडा की गेंद पर एबी डि विलियर्स ने कैच किया। उन्होंने 74 बॉल में 6 चौके और 1 छक्का लगाया। इसके बाद शमी को लुंगी ने 28 रन पर मोर्कल के हाथों लपकवाया।

सेंचुरियन मैदान पर लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत इंग्लैंड ने वर्ष 2000 में दर्ज की थी। उसने 249 रन का लक्ष्य हासिल किया था। इस मैदान पर 6 बार ही लक्ष्य हासिल किया जा सका है, जिसे 5 बार मेजबान टीम ने हासिल किया है। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने एबी डि विलियर्स (80), सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर (61) और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (48) की पारियों की बदौलत दूसरी पारी में 258 रन बनाए और भारत को 287 रन का लक्ष्य दिया। डि विलियर्स और एल्गर ने तीसरे विकेट के लिए 141 रन जोड़कर मेजबान टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। भारत की ओर से मोहम्मद शमी सबसे सफल गेंदबाज रहे, जिन्होंने 49 रन देकर 4 विकेट चटकाए। जसप्रीत बुमराह ने 70 रन देकर 3, जबकि इशांत शर्मा ने 40 रन देकर 2 विकेट हासिल किए। रविचंद्रन अश्विन को एक विकेट मिला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*