इस हॉस्पिटल में डॉक्टर के चैम्बर को देख चौंके स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, किया सील

आगरा में अब तक आंखों पर पट्टी बांधकर गांधारी बना स्वास्थ्य विभाग इन दिनों अवैध हॉस्पिटलों पर कार्यवाही में जुटा है। मौत के सौदागर बन चुके ये हॉस्पिटल ना सिर्फ मरीजों को लूटने में लगे हैं बल्कि उनकी जिंदगी से भी खिलवाड़ कर रहे हैं। डिप्टी सीएमओ की टीम ने यमुनापार के दो हॉस्पिटलों पर कार्यवाही करते हुए दोनों ही हॉस्पिटल को सील कर दिया।

आगरा के थाना एत्माद्दौला इलाके अवैध हॉस्पिटलों की मानो एक मंडी संचालित हो रही हो बार-बार शिकायतें मिलने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग आंखें मूंदे बैठा रहा। बीते दिनों ऐसे हॉस्पिटल में इलाज के नाम पर हुई लापरवाही उजागर होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ताबड़तोड़ छापेमारी में लगा है। इसी क्रम में सौ फुटा टेढ़ी बगिया क्षेत्र में अवैध रूप से चल रहे हॉस्पिटलों में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमारी कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान लक्ष्मी गणेश हॉस्पिटल कई सालों से बिना रजिस्ट्रेशन के चल रहा था। कार्रवाई के दौरान हॉस्पिटल के अंदर कई खामियां पाई जाने पर स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सीएमओ अजय कपूर ने हॉस्पिटल को सील कर दिया है तो वही एक हॉस्पिटल में गंदगी और डॉक्टर के चेंबर में शराब की खाली बोतलें पाई गई, जिसके चलते स्वास्थ विभाग की टीम ने दोनों ही हॉस्पिटल को सील कर दिया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी मुकेश वत्स ने साफ कर दिया है कि अवैध रूप से संचालित हो रहे हॉस्पिटल हो पैथोलॉजी क्लीनिक किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही एंबुलेंस के नाम पर कमाई कर रहे लोगों पर भी कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए संभागीय विभाग से भी संपर्क किया गया है ताकि अवैध रूप से संचालित हो रही एंबुलेंस पर भी कार्यवाही की जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि एक ही डॉक्टर के नाम से सिर्फ एक ही हॉस्पिटल रजिस्टर्ड होगा एक से ज्यादा हॉस्पिटल रजिस्टर्ड मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

आपको जानकर हैरानी होगी कि यमुना पार में लिंग परीक्षण का खेल भी जोरो पर चल रहा है लेकिन स्वास्थ्य विभाग किसी भी मामले का खुलासा नही कर सका। जबकि राजस्थान पुलिस अब तक दो लोगो को लिंग परीक्षण मामले में रंगे हाथों गुरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*