लापता बच्चे की तलाश में पिता ने 1900 km दूरी नापी

आगरा। कानून कितना भी सख्त हो लेकिन वह प्रभावी तभी हो सकता है जब इसका पालन कराने वाला सख्त हो लेकिन प्रदेश के थानो में ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला रहा है। सरकार हो या फिर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उनके कितने भी आदेश पीड़ित को न्याय दिलाने के पक्ष में हो लेकिन थानेदार की सहमति नहीं होगी तो कोई भी कार्यवाही नहीं हो सकती है।

ऐसा ही एक मामला थाना सासनी का है। इस थाना क्षेत्र से एक बच्चा पांच महीने से लापता है। बच्चे का पिता पुलिस के लगातार चक्कर लगा लगा कर थक चुका है लेकिन लापता बच्चे को तलाशने की पुलिस जहमत नहीं उठा रही है। पुलिस की उदासीनता के चलते बच्चे के पिता ने अपने लापता बच्चे को ढूढने के लिए साइकिल से निकल पड़े है और अबतक 1900 किलोमीटर दूरी नाप चुके हैं।

पांच माह पूर्व हाथरस के थाना सासनी अंतर्गत द्वारिकापुर निवासी सतीश चंद्र का 11 वर्षीय पुत्र गोदना स्टेशन से लापता हो गया था। पिता सतीश अपने कलेजे के टुकड़े को तलाशने के लिए साईकिल से निकल पड़े। वह साईकिल से रेलवे ट्रैक के सहारे दिल्ली, रेवाड़ी, आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, कानपुर तथा झांसी आदि हजारों किलोमीटर की दूरी तय कर चुके हैं। पुलिस ने इनके बच्चे को तलाशने की कोई जहमत नहीं उठाई। पीड़ित ने थाने के कई चक्कर लगाए लेकिन उसे हर बार भगा दिया गया।

आगरा पहुंचने पर सतीश की मुलाकात बाल अधिकार कार्यकर्ता एवं महफूज संस्था के पश्चिमी उ0प्र0 के समन्वयक नरेश पारस से हुई। नरेश पारस ने सतीश की वेदना को समझते हुए। यूपी पुलिस को ट्वीट किया जिस पर पुलिस मुख्यालय से आईजी रेंज अलीगढ़ और एडीजी आगरा को आदेश जारी किए गए। वहीं नरेश पारस ने मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर भी शिकायत की, जिस पर आईजी रेंज अलीगढ़ को आदेशित किया गया। आईजी ने एसएसपी, एसएसपी ने सीओ और सीओ ने थाना सासनी को कार्यवाही का ओदश दिया लेकिन ऊपर से चली कार्यवाही ने थाने आकर दम तोड़ दिया। थाने ने इस लाचार पिता की पीड़ा को नहीं सुना और बच्चे को तलाशना जरूरी नहीं समझा जबकि थाने में बच्चों के मामलों को देखने के लिए बाल कल्याण अधिकारी भी नामित किया गया है। थाना पुलिस ने बच्चे के परिवार से भी मिलना जरूरी नहीं समझा। घर का आखिरी चिराग खो जाने से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है लेकिन खाकी को उस पर बिल्कुल रहम नहीं आ रहा है। बच्चे की मां दिनभर रोती रहती है और पिता साईकिल से जिला-जिला घूमकर बच्चें की तलाश कर रहा है।

वही क्षेत्रीय थाने के इंचार्ज का कहना है कि यह जांच का विषय है। कार्यवाही चल रही है। रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जांच लंबी है, इसके बारे में बताया नहीं जा सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*