ताजनगरी में विदेशियों की होली, ढ़ोल की धुन और मस्ती के रंग में जमकर नाचे विदेशी

आगरा। ताजनगरी में हर ओर होली के रंग देखे जा रहे हैं लेकिन सबसे खास बात है यहां विदेशियों की होली। यह शहर जितना आगरावासियों के लिए खास है उतना ही विदेशियों के लिए भी।

आगरा हिन्दी संस्थान में तमाम विदेशी छात्र पढ़ने आते हैं। इस कारण यहां पर होली उनके लिए कुछ खास ही हो जाती है। विदेशी छात्रों ने न सिर्फ रंगों से होली खेली बल्कि ठंडाई का भी मजा लिया। ढोल की धुन और हिन्दुस्तानी गानों पर भी खूब नाचे। यहां तक कि विदेशियों छात्रों ने होली के रंगों में खूब धमाल मचाया। उन्होंने भारत की संस्कृति व त्यौहारों के बारे में भी जाना।

उन्होंने कहा कि होली का त्यौहार भारत में बहुत अच्छा है। यहां होली खेलकर बजा मज़ा आया। हम इस होली को कभी नही भूलेंगे। अभी तक बस होली के बारे में सुना था, आज देख भी लिया।

आपको बता दें कि ये विदेशी हैं वाबजूद इसके रंगों से सराबोर होने के लिए हैं बेकरार नज़र आये। विदेशी छात्रों को होली के मौके का बेसब्री से इंतजार था ताकि वह होली पर रंगों से धमाल कर सकें। उन्होंने खुद भी सराबोर किया और दोस्तों को भी रंगीन करने से नहीं चूके। विदेशी छात्रों का कहना था कि अब तक किताबों में पढ़ा और नेट पर देखा लेकिन पहली बार होली खेलने के ख्वाब साकार हुए।

केंद्रीय हिंदी संस्थान होली को लेकर संस्थान के छात्र-छात्राओं में गजब का उत्साह नजर आया। उनकी ओर से पिछले दिनों संस्थान प्रशासन से होली पर आयोजन कराने की मांग की गई थी जिसके बाद संस्थान प्रशासन ने होली उत्सव का कार्यक्रम तय किया है।

विदेशी छात्र-छात्राओं ने बताया कि उनके देश में होली जैसे त्योहार तो होते हैं पर वो इतने मजेदार नहीं। हमेशा भारत की होली के बारे में सुना था। इंतजार था कि कब होली खेलने को मिले। इस दौरान सूडान के छात्र ने कहा कि अक्सर में किताबों में होली के बारे में पड़ता था। कई बार इंटरनेट पर व फिल्मों में लोगों की रंग खेलते देखा। सोचती थी ये कौन सा त्योहार है। पर यहां आकर पता चला कि रंगों का ये त्यौहार तो दिलों का जोड़ने का काम करता है। यहां होली खेलकर बहुत अच्छा है।

शहर वासियों को होली की हार्दिक शुभकामनाएं, मून ब्रेकिंग

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*