बजट पर प्रतिक्रिया, देखिए क्या कहते हैं ताजनगरी के लोग

आगरा। वित्त मंत्री के आम बजट को लेकर ताजनगरी के वासियों को तमाम उम्मीद थी। पर्यटन उद्योग हो या आम जनमानस सभी लोगों ने वित्त मंत्री से आयकर में छूट और पर्यटन उद्योग से जुड़े तमाम योजनाओं को इस बजट में शामिल करने का सपना सजाया था। आम बजट पर जब पर्यटन उद्योग से जुड़े व्यवसाइयों से बात की गई तो पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों ने इससे नाखुश होने की बात कही।

होटल व्यवसाइयों का कहना था कि दुनिया के तमाम देश अपने प्राकृतिक सौंदर्य और उद्योग के साथ-साथ धार्मिक स्थलों को पर्यटन से जोड़ रहे हैं। उनके प्रचार प्रसार के लिए अलग से बजट बनाया जाता है लेकिन पिछली सरकारों की तरह मोदी सरकार ने इस बजट में पर्यटन उद्योग से जुड़ी किसी भी योजना को इसमें शामिल नहीं किया जबकि आगरा में ताजमहल है और पर्यटको को रात्रि विश्राम के लिए लंबे समय से कवायदे जारी हैं लेकिन उनको अमलीजामा आज तक नहीं पहनाया गया है। पर्यटन व्यवसाइयों ने पर्यटन आयोग बनाने और अलग से बजट बनाने की मांग की है।

इस आम बजट में महिलाओं को गैस कनेक्शन और बिजली कनेक्शन देने की बात पर एक महिला ग्रहणी का कहना था कि इस बजट में बहुत कुछ सही है जो आम लोगों को काफी फायदा पहुंचाएगा लेकिन एक आम आदमी को बजट में छूट के लिए सरकार से काफी उम्मीदें होती हैं जिसमें सरकार ने लोगों को नाउम्मीद किया है।

एक युवा का कहना था कि इस बजट में उद्योगपतियों का भरपूर ख्याल रखा गया है। युवा मोदी जी की व्यापार नीति से संतुष्ट तो नजर आए लेकिन उनका कहना था कि एक तरफ मोदी जी रोजगार देने की बात करते हैं तो वहीं फैक्ट्री और कारखाने बंद होने से लाखों करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए निचले तबके के लोगों के लिए इस बजट में कोई योजना नहीं जिससे कि उनका भी विकास हो सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*