दिव्यांग को लटकाकर दबंगो ने लगाईं पिटाई, चोरी के शक़ में दी बड़ी सज़ा

हापुड। एक दिव्‍यांग पर दबंगों का कहर देखने को मिला। जहां सिंभावली थाना क्षेत्र  के देवली में दबंगों ने दिव्‍यांग पर चोरी का आरोप लगाकर उसे रस्‍सी से बांधकर जमकर लाठी डंडों से पीटा। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है साथ ही एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

थाना सिंभावली क्षेत्र के गांव देवली में पीड़ित दिव्यांग अनिल मोची का काम करता है। बीते शनिवार 10 मार्च को गांव में एक युवती का पर्स चोरी हो गया था जिसमें पर्स चोरी करने का आरोप गांव के दिव्यांग अनिल और रोहित पर लगा। जिसके बाद आरोपी कपिल अपनी गाड़ी लेकर दिव्यांग अनिल के पास पहुंचा था और उसे कुछ काम होने की बात कहकर अपने साथ ले गया।

पर्स चोरी के मामले में गांव के अंदर पंचायत की गई जिसमें पर्स चुराने वाले आरोपी युवक रोहित का फैसला पंचायत ने 50000 में तय कर दिया। रोहित के पिता ने चोरी में हुए नुकसान की भरपाई करने के एवज में 50000 देने की पेशकश रखी थी तो वहीं चोरी का गुनाह रोहित द्वारा कबूल होने के वाबजूद रोहित और दिव्यांग अनिल को आरोपियों ने घर के अंदर लाकर उनके हाथ एक ऊंचे डंडे से बांध दिए और हाथ बांधकर उनको लटका दिया जिसके बाद दोनों की थर्ड डिग्री टॉर्चर के साथ पिटाई की गई।

इसमें दिव्यांग अनिल को काफी गंभीर चोटें आई हैं जिसके शरीर पर पिटाई के बाद पड़े छाले व सूजन के निशान साफ तौर पर देखे जा सकते हैं। बेकसूर दिव्यांग को इतनी बेरहमी से पीटा जा रहा था कि वह दर्द से चिल्लाता रहा लेकिन पीटने वाले आरोपियों ने उस पर कोई रहम नहीं किया।

पीड़ित दिव्यांग की माने तो चोरी रोहित द्वारा की गई थी और उसको चोरी के शक में आरोपियों ने उठा कर जबरन पीटा।  मामले में पिटाई की सूचना गांव में पहुंचते ही लोगों में चर्चा का विषय बन गया और सैकड़ों लोग इकट्ठे होकर आरोपी के घर पहुंच गए जहां से बामुश्किल उसको निकाला गया।

एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि पीड़ित दिव्यांग के भाई की तहरीर पर पुलिस ने मामले में तीन आरोपियों नूतन, कपिल और भरत के नामजद मुकदमा दर्ज किया है जिनमें से एक आरोपी नूतन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन पीड़ित परिवार व गांव वालों की माने तो इस मामले में पुलिस लापरवाह बनी हुई हैं जो अन्य आरोपियों को बचाने में जुटी हुई है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*