‘कार्ड बंट चुके हो चुकी एडवांस बुकिंग, शादी-समारोह की पुरानी गाइडलाइन बहाल हो’ – आगरा मेयर

'Booking has been done, advance booking, old wedding ceremony guidelines should be restored' - Agra Mayor

आगरा। आगरा प्रशासन द्वारा शादी-समारोह को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की गई है जिसके मुताबिक शादी समारोह में सिर्फ 100 लोग ही एकत्रित हो सकते हैं, बैंड बाजा बारात निकालने पर भी रोक लगा दी गई है। खास बात यह है कि शादी में एकत्रित होने वाले इन 100 लोगों में हलवाई वाले, उनके कारीगर के साथ अन्य स्टाफ भी शामिल होंगे।इस नई गाइडलाइन पर आगरा महापौर नवीन जैन ने चिंता व्यक्त की है। महापौर ने कहा है कि सहालग बिल्कुल नजदीक आ चुका है। जिन परिवारों में अगले 10-20 दिनों में शादियां हैं, कार्ड बट चुके हैं, हलवाई की बुकिंग हो चुकी है, ऐसे में उन परिवारों में नई गाइडलाइन को लेकर चिंता का माहौल है। परिवारों के सामने सबसे ज्यादा परेशानी इस बात की है कि नई गाइडलाइन आने के बाद मजबूरी में अब जिन लोगों को नहीं बुलाना है उन्हें कार्ड देने के बावजूद कैसे मना किया जाए। इसके अलावा बैंड बाजा बारात पर रोक लगने से इसमें काम करने वाले मजदूर कारीगर के सामने आर्थिक संकट पैदा हो जाएगा जो कि लॉकडाउन लगने के बाद पहले से ही आर्थिक संकट और भुखमरी की स्थिति से जूझ रहा है। ऐसे सभी लोगों की परेशानी और समस्याओं को समझते हुए महापौर नवीन जैन ने आगरा प्रशासन से मांग की है कि केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई पहले की गाइडलाइन जिसमें शादी समारोह में 200 लोगों के एकत्रित होने की अनुमति है, को 15 दिसंबर तक के लिए बहाल किया जाए और उसी गाइडलाइन के अनुसार शादी समारोह हों।

महापौर नवीन जैन ने चिंता जताई है कि नजदीकी तिथियों में जिन घरों में शादियां हैं, कार्ड बंट चुके हैं उन्हें नई गाइडलाइंस का पालन करने में परेशानी आएगी। अगर इसका समाधान नहीं निकाला गया तो स्थानीय स्तर पर पुलिसकर्मी बैंकट हॉल, मैरिज होम या जिन घरों में शादी है वहां जाकर उन्हें अनावश्यक रूप से परेशान या उत्पीड़न कर सकते हैं। इसके अलावा भ्रष्टाचार होने की भी संभावना बन सकती है। इसलिए अभी एकदम से शादी समारोह को लेकर कड़ाई ना की जाए। शादी वाले घरों में हलवाई, डीजे, फूल सजावट, बैंड बाजे आदि की एडवांस बुकिंग भी हो चुकी है लेकिन नई गाइडलाइन आने से अब सभी पशोपेश में है। जहां एक तरफ परिवारों को आर्थिक नुकसान होने के साथ यह समझ नहीं आ रहा कि किसे बुलाएं और किसे मना करें तो वहीं शादी समारोह में काम करने वाले हलवाई और कारीगरों को यह चिंता खाए जा रही है की शादी के शुभ मुहूर्त के गिने-चुने दिन हैं, उसमें भी अगर उन्हें काम नहीं मिला तो उनके परिवार में भुखमरी की स्थिति आ जाएगी। इन सभी को लेकर महापौर नवीन जैन ने मांग की है कि 15 दिसंबर तक के शादी समारोह को नई गाइडलाइन से मुक्त किया जाए। मांगलिक अवसरों को करने दें, अभी उनके साथ छेड़खानी ना करें। 15 दिसंबर के बाद नई गाइडलाइन का पालन करने में फिर किसी को भी कोई परेशानी नहीं आएगी।

महापौर नवीन जैन ने सभी आगरा वासियों से यह अपील की है कि शादी समारोह के कार्यक्रम आमतौर पर रात 9:00 बजे से शुरू किए जाते हैं, इसमें बदलाव करके शाम 6:00 बजे से ही लोगों को आने का न्योता दे और मांगलिक कार्यक्रम की शुरुआत कर दें जिससे एक समय में एक जगह पर ज्यादा लोग एकत्रित ना हो पाए और आपका समारोह भी बिना किसी रोक-टोक के पूर्ण हो सके। इसके अलावा योगी सरकार और आगरा प्रधासन द्वारा कोविड 19 को लेकर जो गाइडलाइंस जारी की गई है, उनका पूर्ण रूप से पालन करें। समारोह में हमेशा मास्क लगाकर जाएं और फिजिकल डिस्टेंस बना कर रखें।

About admin 5000 Articles
मून ब्रेकिंग एक ऐसा न्यूज़ चैनल है जिसकी कोशिश हर ख़बर या घटना की जानकारी पूरी सत्यता के साथ और जल्द से जल्द आप तक पहुँचाने की है। मून ब्रेकिंग की शुरुआत सितम्बर 2017 से हुई है। मून ब्रेकिंग आपको नेट के जरिये देश-दुनिया, क्राइम, राजनीति, लाइफस्टाइल और मनोरंजन आदि से जुड़ी पूरी जानकारी उपलब्ध करायेगा। साथ ही किसी घटना पर प्रतिक्रिया देने या आपकी आवाज़ बुलंद करने के लिए मून ब्रेकिंग एक साझा मंच भी प्रदान करता है।