बजट के बाद शेयर मार्केट में गिरावट जारी, रुपया भी हुआ कमजोर

आगरा। मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली के आम बजट पेश करने के दौरान शेयर मार्केट में शुरु हुई गिरावट का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा। शुक्रवार को शेयर बजार गिरावट के साथ खुला तो बंद भी गिरावट के साथ ही हुआ।

प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 839 अंक गिरकर 35066 के स्तर पर और निफ्टी 256 अंक की कमजोरी के साथ 10760 के स्तर पर बंद हुआ है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मिडकैप इंडेक्स में 4.34 फीसद और स्मॉलकैप में 6.06 फीसद की कमजोरी देखने को मिल रही है।

सुबह 10.30 बजे सेंसेक्स 580 अंक गिरकर 35324 के स्तर पर और निफ्टी 167 अंक गिरकर 10849 के स्तर पर कारोबार शुरु हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप इंडेक्स में 4.46 फीसद और स्मॉलकैप 7.50 फीसद की भारी गिरावट देखने को मिल रही है। रियल्टी शेयर्स में करीब 7 फीसद तक की कमजोरी दर्ज की जा रही है।

दोपहर को भी शेयर बजार धड़ाम से गिर गया शाम होते होते गिरावट 839 अंक गिरकर बंद हुआ। इसके कारण रुपया भी 16 पैसा कमजोर हो गया।

शेयर मार्केट से जुड़े लोगों ने बताया कि बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सूचीबद्ध शेयरों, इक्विटी फंडों और बिजनेस ट्रस्टों की यूनिटों के हस्तांतरण से अर्जित एक लाख रुपये से अधिक के दीर्घकालिक कैपिटल गेन पर 10 फीसद की दर से टैक्स लगाने का प्रस्ताव किया है। यही भारतीय शेयर बाजार में गिरावट की बड़ी वजह बन गया है। अभी तक सूचीबद्ध इक्विटी शेयरों, इक्विटी फंडों और बिजनेस ट्रस्टों की यूनिटों से प्राप्त होने वाले दीर्घकालिक कैपिटल गेन पर किसी प्रकार का कर नहीं लगता था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*