आये थे दरोगा बनने, पहुंच गए जेल

आगरा। ट्रेनों में अपराधिक वारदातों को अंजाम देने के लिए जीआरपी और आरपीएफ ने विशेष चेकिंग अभियान छेड़ रखा है। इस अभियान के तहत आरपीएफ और जीआरपी ट्रेनों में अपराध करने वाले अपराधियों पर तो शिकंजा कस ही रही है लेकिन बीती रात इस अभियान के चलते एक फर्जी टीटी भी आरपीएफ के हत्थे चढ़ गया। आरपीएफ ने इस फर्जी टीटी को जीआरपी के सुपुर्द कर दिया। जिसके बाद जीआरपी ने कानूनी कार्यवाही कर उसे जेल भेज दिया है।

मामला बीती रात भोपाल एक्सप्रेस ट्रेन का है। जिसमें राहुल यादव नाम का व्यक्ति सफ़र कर रहा था। चेकिंग के दौरान आरपीएफ को राहुल यादव पर शक हुआ तो उसकी पूरी जांच पड़ताल की गई। आरपीएफ से बचने के लिए राहुल अपने आपको रेलवे स्टाफ बताने लगा और फर्जी टीटी कार्ड भी आरपीएफ को दिखाने लगा। आरपीएफ ने आईकार्ड की जांच की तो राहुल यादव नाम का कोई भी टीटी नहीं मिला। जिसके बाद आरपीएफ ने तुरंत राहुल को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी।

फर्जी टीटी राहुल यादव ने बताया कि वह आगरा दरोगा की ऑनलाइन परीक्षा के लिए जा रहा था। आरपीएफ से बचने के लिए उसने फर्जी टीटी का आईकार्ड दिखया। उसने बताया की गोरखपुर में एक गिरोह सक्रीय है जो बेरोजगारों को फर्जी रेलवे टीटी का आईकार्ड बनाकर देता है। इस आईकार्ड से पहले फर्जी टीटी बनकर ट्रेनों में अवैध वसूली करता था लेकिन लेकिन यह कार्य अब छोड़ दिया है।

फिलहाल आरपीएफ और जीआरपी ने राहुल के गोरखपुर वाले गिरोह को गंभीरता से लिया है। साथ ही गोरखपुर आरपीएफ और जीआरपी को इस मामले की सूचना दे दी है। जिससे इस गिरोह पर शिकंजा कसा जा सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*