Home बड़ी खबर धोखाधड़ी मामले में आगरा साइबर पुलिस ने गुरुग्राम में किया एक नाइजीरियन को गिरफ़्तार

धोखाधड़ी मामले में आगरा साइबर पुलिस ने गुरुग्राम में किया एक नाइजीरियन को गिरफ़्तार

by admin

आगरा। गांधी नगर निवास अवध कुमार त्रिपाठी एक व्यक्ति के साथ हुई धोखाधड़ी मामले में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। आईजी रेंज ए सतीश गणेश की साइबर टीम ने इस फ्रॉड को अंजाम देने वाले नाइजीरियन युवक को गुरुग्राम से गिरफ्तार किया है। नाइजीरियन युवक एंड्रयू डेनियल की गिरफ्तारी से
इंटरनेशनल साइबर फ्रॉड का हुआ खुलासा हुआ है। साइबर सेल ने नाइजीरियन युवक के पास से दो पासपोर्ट, एक लैपटॉप, दो मोबाइल फोन, बरामद किए है। नाइजीरियन युवक के लैपटॉप से कई राज्यों के लाखों लोगों के फोन नंबर और ईमेल आईडी मिले है। इतना ही नही दो फोन की सिम में से एक सिम डॉक्टर ईडन के नाम से रजिस्टर्ड है।

पुलिस के आलाधिकारियों में बताया कि पिछले साल गांधी नगर निवासी अवध नारायण त्रिपाठी ने हरीपर्वत थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़ित अवध नारायण त्रिपाठी पालीवाल पार्क के एक खाद्य विभाग के प्राचार्य है। पीड़ित की शिकायत पर साइबर सेल काम कर रही थी और आरोपी को गरुग्राम से हिरासत में ले लिया।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पिछले साल पीड़ित के मोबाइल पर मैसेज आया कि घोड़ों की शक्तिवर्धक दवाओं में मोटा मुनाफा है और जर्मन व अमेरिका में इनकी डिमांड है। क्या आप साथ कारोबार करना चाहेंगे। इसके लिए नाइजीरियन युवक ने अपनी डॉ ईडन के नाम से मेल आईडी के साथ एक फार्म का पता और नंबर भेजा। पीड़ित का भरोसा जीतने के लिए एक विदेशी युवक भी उससे मिला और दवाओं के सैम्पल लेकर पेमेंट भी किया जिस पर पीड़ित को एक लाख का फायदा हुआ और पीड़ित ने पुत्र के नाम पर एंड्रयू डेनियल के साथ कारोबार शुरू कर दिया। एंड्रयू डेनियल ने पीड़ित को अपने जाल में फंसा कर कई भर विभिन्न खातों में करीब 33 लाख रुपये डलवा लिए और फिर कोई संपर्क नही हुआ। पीड़ित ने तुरंत इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से की और मामला आईजी रेंज की सायबर सेल को सौप दिया गया।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि एंड्रयू डेनियल 2011 में मास मीडिया की पढ़ाई के लिए स्टूडेंट वीजा पर भारत आया था लेकिन वीजा खत्म होने पर वापस नही गया बल्कि साइबर फ्रॉड गिरोह के साथ काम करने लगा और उन्ही के साथ मिलकर इस ऑनलाइन फ्रॉड को अंजाम दिया।

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि एंड्रयू डेनियल के साथ कुछ राजस्थान और महाराष्ट्र के गैंग जुड़े हुए है। यह गैंग डेनियल को लोगों की जानकारी उपलब्ध कराते है। लोगों से ठगी करने के बाद माल में से डेनियल का 40 प्रतिशत हिस्सा होता था। फिलहाल पुलिस अब डेनियल के अन्य साथियों को पकड़ने में जुट गई है।

Related Articles

Leave a Comment

%d bloggers like this: