शराब के ठेके के पास मिला 50 वर्षीय व्यक्ति का शव, धारदार हथियार से वार के निशान

आगरा। थाना शाहगंज की 12 बीघा में उस समय हड़कंप मच गया जब 50 वर्षीय गफ्फार अली का शव शराब के ठेके के पास के ही खाली प्लाट में मिली। गफ्फार अली की हत्या धारदार हथियार से गला रेत कर की गई। खून से लथपथ शव को देखकर लोगों के होश उड़ गए तो परिवारीजनों का रो रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय पुलिस और आलाधिकारी और क्षेत्रीय पार्षद मौके पर पहुँच गए।

थाना शाहगंज इस्लामनगर का रहने वाला गफ्फार कबाड़ बिनने का काम करता है जो सोमवार दिन में 12 बजे के आसपास घर से कबाड़ का काम करने के लिए निकला था। लेकिन रात को घर नही पहुँचा। गफ्फार की हत्या की खबर परिवार के लोगों को सुबह मिली। गफ्फार की हत्या के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। क्षेत्र के लोगों में गुस्सा व्याप्त है। गुस्साए लोगों ने देसी शराब के ठेके पर हंगामा किया। हत्या और हंगामे की ख़बर के बाद थाना शाहगंज थाना मलपुरा और थाना सदर का पुलिस फोर्स पहुंच गया।

परिवार के लोगों का कहना है कि उनकी किसी से कोई रंजिश नही है। मृतक गफ्फार अली कबाड़ के साथ साथ हलवाई का काम भी करता था। इस हत्या ने परिवार को पूरी तरह से तोड़ दिया है।

स्थानीय लोगों का कहना है हत्या के पीछे की वजह यह शराब का ठेका है। देसी शराब के ठेके पर 24 घंटे शराब मिलती है। सरकार ने शराब बेचने के नियम बना रखे है लेकिन सभी नियमो को ताक पर रखकर सुबह से ही शराब बिकने लगती है जबकि शराब का ठेका थाना सदर सोहल्ला के लिए आवंटित है और ठेका थाना सारन 12 बीघा में चलाया जा रहा है।

हंगामा कर रहे लोगों का कहना था कि मृतक के 9 बच्चे हैं जिसमें कई मासूम है। गफ्फार अली ही इनकी रोजी रोटी की व्यवस्था करता था लेकिन अब वो ही नही रहा। ऐसे में परिवार पर आर्थिक संकट भी आ गया है। परिवार के लोगों ने मांग की कि जल्द ही गफ्फार के हत्यारे को पकड़ा जाए और मृतक के परिजनों को मुआवजा दिया जाए। मौके पर पहुंचे एसडीएम और सीओ ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*