फ़िनलैंड के प्रतिनिधि मंडल ने कौन से विद्यालय का किया दौरा, जानिये

आगरा। बाल श्रम को रोकने के लिए भारत सरकार और विभिन्न गैर सरकारी संस्थाओं चल रहे प्रयास को देखने और उन्हें जानने के लिए फिनलैंड का 15 सदस्य दल आगरा शहर के धनौली स्थित श्रमिक विद्यालय पहुंचा। श्रमिक विद्यालय के अध्यापको नें सभी विदेशी अतिथियों का टीका लगाकर और माला पहनाकर स्वागत किया।

श्रमिक स्कूल में मिले इस सम्मान को पाकर विदेशी मेहमान काफी उत्साह दिखाई दिए। इसके बाद फिनलैंड के 15 सदस्यीय दल के सभी सदस्यों ने उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संगठन की ओर से चल रहे श्रमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान फिनलैंड के प्रतिनिधि मण्डल ने श्रमिकों के बच्चों को दी जा रही शिक्षा प्रणाली को जाना साथ ही सभी लोग स्कूली बच्चों से भी रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने बच्चों से सवाल जवाब भी किए। बच्चों ने इन सवालों का आत्मविश्वास के साथ उत्तर दिया। उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संगठन की ओर से श्रमिकों के बच्चों को शिक्षित बनाने के चल रहे प्रयास की फिनलैंड से आए प्रतिनिधिमंडल ने सराहना की।

इस दौरान सास्क के एशिया कोऑर्डिनेटर मनोरंजन पेंगु ने बताया कि फिनलैंड से आए सदस्य दल में वहां की ट्रेड यूनियन के सदस्यों के साथ साथ छात्र भी मौजूद हैं जो भारत और गैर सरकारी एजेंसियों के बाल श्रम को रोकने के लिए चल रहे प्रयासों पर स्टडी करने आए हैं। श्रमिक स्कूल के निरीक्षण के बाद फ़िनलैंड के छात्र भी मीडिया से रूबरू हुए। एली का कहना था कि फ़िनलैंड बाल श्रम मुक्त है और भारत में इसे रोकने के प्रयास चल रहे है। लेकिन उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संघठन ने इसमें बदलाव की अलख जलाई है वो वास्तव में सराहनीय कार्य है। श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ना कठीन कार्य है लेकिन तुलाराम शर्मा ने यह कर दिखाया है। जिस पर रीसर्च करके फ़िनलैंड में भी इसे लागू कराने का प्रयास किया जायेगा।

छात्रा ग्रेटा ने भी उत्तर प्रदेश ग्रामीण मजदूर संघठन के प्रयास की सराहना की। उनका कहना था कि फ़िनलैंड में भी बाल श्रम और मजदूरों के हितो के लिए काफी कार्य हो रहे है क्योकि वहाँ की सरकार इस विशेष ध्यान दे रही है और यहाँ पर तुलाराम शर्मा यह कार्य कर रहे है। संघठन के अध्यक्ष तुलाराम शर्मा का कहना था कि यह गर्व की बात है कि दूसरे देश के लोग भी बाल श्रम को रोकने के लिए उनके संघठन के साथ खड़े हुए है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*