हज हॉउस का भगवाकरण करने के बाद अब भगवा के साये में ये ऐतिहासिक इमारत

आगरा। बीते दिनों योगी आदित्यनाथ सरकार पर हज हॉउस पर भगवाकरण करने के गंभीर आरोप लगे थे जिसको लेकर विपक्ष एक जुट हुआ था और सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया। काफ़ी दिन तक सियासती गलियारों में हज हाउस को भगवा रंग से रंगने से भाजपा को ट्रॉल किया गया था लेकिन इसके बाद भी भगवाकरण नहीं रुक रहा है।

लखनऊ के हज हॉउस के बाद अब दुनिया की संगमरमरी हुस्न की इमारत में शुमार ताजमहल पर भगवाकरण चमक रहा है। बाकायदा पेंटिंग के माध्यम से ताजमहल के साये में भगवा प्रचार किया जा रहा है। विश्व धरोहर ताज़महल के साये में भगवा रंग से दीवारों पर पेंटिंग की गई है। हालाकिं पेंटिंग से अंदाजा लगाया जा रहा है कि भाजपा अब ताज़महल के माध्यम से सरकार अपना प्रचार विदेश तक करना चाहती है। क्योंकि ताजमहल में दुनियाभर से पर्यटक आते है। भाजपा इसको अपना प्रचार प्रसार का केंद्र बना रही है। सत्ता प्रदेश और केंद्र में मौजूद है इसी की वजह से भाजपा अपनी तानाशाही कर रही है।

आपको बता दें कि ताज़महल के पूर्वी गेट पर भगवा रंग से पुताई की गई है। यहां ताज़महल की आकृति की पेंटिंग बनाई गई है। भगवा रंग की पेंटिंग से कई चित्र बनाएं है। जिसमें ताज़महल की मीनारें, मस्जिद की आकृति, जालियाँ भी बनी हुई है। ताज़महल में भगवा पेंटिंग काफ़ी चर्चाओं में है। देशी विदेशी पर्यटक इसकी और आकर्षित हो रहे है। क्योंकि ताज़महल का रँग सफ़ेद है तो सफ़ेद के साथ भगवा रंग का कॉम्बिनेशन कुछ अलग से लग रहा है। ताज़महल में जो भी पर्यटक या आमनागरिक ताज के साये में रंगी भगवा पेंटिंग देख चर्चा कर रहा है। यही वजह है कि ताज़महल पर फिर एक बार सियासत हो सकती है। गौरतलब है कि बीते दिनों यूपी सरकार के कई मंत्रियों के ताज़महल को लेकर विवादित बयानों ने हलचल पैदा कर दी थी तो वहीं अब ताज़महल पर हुई भगवा पेंटिंग से कहीं न कहीं सियासत गर्मा सकती है।

भगवा पेंटिंग पर भाजपा महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे ने सफाई देते हुए कहा कि भगवा रंग शांति और भाईचारे का संदेश है। ताजमहल विश्व की धरोहर है । इसलिए भगवा रंग के ज़रिए भाजपा का नही देश की शांति का प्रचार प्रसार है। इस पेंटिंग को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए किया जा रहा है। जब आगरा में पर्यटक आये तो वह इस रंग की वजह से शांति का संदेश लेकर जाएं । पर्यटकों को एहसास हो कि यहां शांति और भाईचारे का माहौल है। भगवा किसी पार्टी का नही बल्कि शांति का रंग है।

वहीं विपक्ष के लोग इसे आड़े हाथ ले रहे है उनका कहना है कि ताज के साये में भगवाकरण कर भाजपा अपनी साम्प्रदायिकता को दर्शा रही है जिसे बर्दाश नही किया जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*