श्रमिक स्कूल के बच्चे किसे पुकारते है चाचा नेहरू..

आगरा। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती को आज पूरा देश बाल दिवस के रूप में मना रहा है। पंडित जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से बहुत अधिक प्रेम था। उनका कहना था कि यह पीढ़ी ही आगे चलकर देश का भविष्य बनेगी। आगरा शहर में भी एक ऐसा शख्स है जिसने अपनी पहचान पंडित जवाहरलाल नेहरु के रूप में बनाई है। इस व्यक्ति का नाम तुलाराम शर्मा है जो श्रमिक बच्चों को शिक्षित करने और उनके स्वास्थ्य के लिए निस्वार्थ भाव से काम कर रहे हैं।

बाल दिवस के अवसर पर मून ब्रेकिंग टीम ने धनौली स्थित श्रमिक विद्यालय का दौरा किया और बाल दिवस को लेकर बच्चों से वार्ता की। इस दौरान हमने देखा कि स्कूल के संस्थापक बाल दिवस के अवसर पर खुद बच्चों को पढ़ा रहे थे और पंडित जवाहरलाल नेहरू के जीवन से रूबरू करा रहे थे। इस बीच श्रमिक विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों से बाल दिवस को लेकर वार्ता भी हुई बाल दिवस क्यों मनाया जाता है यह सारे बच्चों को पता था लेकिन जो बच्चों ने हमसे कहा उसे सुनकर हम हैरान रह गए। बच्चों का साफ तौर से कहना था कि हमने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को तो नहीं देखा लेकिन वह बिल्कुल हमारे स्कूल के संस्थापक तुलाराम शर्मा जैसे ही होंगे। क्योंकि जितना प्यार वह बच्चों से करते थे उतना ही प्रेम स्कूल के संस्थापक स्कूल में पढ़ने वाले सारे बच्चों से करते हैं और बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के लिए सारी व्यवस्थाएं कर रहे हैं चाहे वह किसी भी प्रकार की हो।

बाल दिवस के अवसर पर स्कूल के संस्थापक तुला राम शर्मा अपने दायित्वों नहीं भूले। उन्होंने सभी बच्चे को उन्होंने सभी बच्चों को गले लगाया और मिठाइयों के साथ साथ शिक्षण सामग्री भी भेट की जिसे पाकर बच्चे काफी उत्साहित देखें और सभी बच्चों ने उन्हें चाचा नेहरू कहकर पुकारा। इस सम्मान को पाकर तुला राम शर्मा काफी उत्साहित दिखे।

मून ब्रेकिंग से वार्ता करते हुए तुलाराम शर्मा का कहना था कि जो जैसा कार्य करता है उसे वैसा ही फल मिलता है। बच्चों के लिए किए गए कार्य के कारण ही इस स्कूल के बच्चे मुझे चाचा नेहरु कहकर पुकारते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*