राष्ट्रीय पक्षी की मौत से वन विभाग में हड़कंप

आगरा। बसई अरेला थाना छेत्र में मोरो के मरने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहे है। रविवार को भी एक बंद पडे मकान से दो मोर के शव बरामद किये गये। वहीं हरकत मे आयी वन विभाग की टीम ने की फसलों की जांच की।

थाना बसई अरेला के गांव कांकरखेडा मे मोरों के मरने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है। अब तक यहां पर चार मोर मर चुके है और तीन जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रहै है। बता दें कि रविवार को गांव के बन्द घर मे दो मोर के शव मिलने से गांव मे हड़कम्प मच गया।

ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी। मौके पर वन विभाग पिनाहट रेंजर अशोक कुमार शर्मा अपनी टीम के साथ पहुँचे और मोर के शव को कब्जे लेकर पोस्टमार्टम के लिये कीठम भिजवा दिया। टीम के साथ फसलों मे की जा रही कीटनाशक दवा के छिड़काव की जांच की।

चने के खेत की भी जांच की व फसलों के सेंपल लिये जिनकी लेब द्वारा जांच कराई जायेगी। जिस तालाब के किनारे पेड पर मोर आकर बैठते है। उसमे पानी न होने पर ग्रामीणो से तालाब को भरने की अपील की व फसलों मे कीटनाशक दवा के छिड़काव कीटनाशक जांच कराकर छिड़काव की अपील की।

गांव प्रधान को एक लिखित पत्र दिया जिसमें कहा कि यदि किसी ने ऐसी दवा का छिड़काव किया है तो वे जल्द ही फसलो की सिंचाई करले। वहीं रेंजर पिनाहट अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि सारे मामले की जांच की जा रही है। जिन मोरो के शव आज मिले है। उनकी मौत आज नही हुई है। वे करीब दो सप्ताह पुराने है। ग्रामीणों को सख्त हिदायत दी गयी है। जांच कर दवा का छिड़काव करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*