भारत बंद ने ट्रेनों के थमे पहिये, यात्रियों में फैली दहशत

एससी एसटी एक्ट में सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के बाद से दलित समाज के तमाम संगठनों ने 2 तारीख को जो भारत बंद का ऐलान किया था। उसका असर देखने को मिल रहा है। सोमवार को घड़ी के सुबह 8:00 बजते ही दलित समाज की तमाम संगठनों के पदाधिकारी और समाज के लोग सड़कों पर उतर आए सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के विरोध में अपना विरोध जताने के लिए। लोगों ने एक तरफ जाम लगाया तो ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिए। बिजली घर चौराहे से निकलने वाले रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शनकारी ट्रैक पर बैठ गए तो डाली पुल के नीचे तो वहां से गुजरने वाली ट्रेन को रोक करो। उसके इंजन पर ही सवार हो गए।

अपनी बात को केंद्र सरकार के साथ-साथ सर्वोच्च न्यायालय के कानों तक पहुंचाने के लिए दलित समाज के लोगों ने रेलवे ट्रैक पूरी तरह से जाम कर दिया रेलवे ट्रैक पर बैठे सारे प्रदर्शनकारियों की सूचना मिलते ही जीआरपी और आरपीएफ भी मौके पर पहुंच गई लेकिन दलित समाज के लोग नहीं माने दलित समाज के लोगों ने ट्रेन के इंजन पर चढ़कर ट्रेन को रोक दिया और यह सिलसिला घंटो तक चलता रहा दलित समाज के प्रदर्शन के कारण आगरा से गुजरने वाली तमाम ट्रेनों लेट हो गई तो वहीं प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन यह प्रयास असफल ही नजर आए दलित समाज के रेलवे ट्रैक के ऊपर से ना होने के कारण इस सेट से गुजरने वाली तमाम ट्रेन आगरा फोर्ट के साथ-साथ आगरा कैंट स्टेशन पर खड़ी हुई नजर आए यात्री भी वहां पर विवश नजर आए लेकिन इन प्रदर्शनकारियों के आगे जीआरपी के साथ-साथ RPF और जिला प्रशासन भी मूकदर्शक बना हुआ नजर आया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*