बजरंग दल महानगर प्रमुख ने पीएम मोदी पर की विवादित टिप्पणी

आगरा। राम नाम का सहारा लेकर प्रदेश और देश में सरकार बनाने वाले भाजपा नेता आजकल राम के नाम पर दिखाई नहीं दे रहे है। यह कहना है बजरंग दल के नेताओं का। ऐसे नेताओं को ढूढ़ने के लिए आगरा में राष्ट्रीय बजरंग दल नेताओं ने अब भगवान हनुमान जी का सहारा लिया है। राष्ट्रीय बजरंग दल के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हनुमान मंदिर में 11 कुंडीय यज्ञ व हवन किया और भगवान हनुमान जी से इन्हें ढूंढने की प्रार्थना की।

राष्ट्रीय बजरंग दल के महानगर प्रमुख गोविंद पराशर का कहना है कि जब से राम के नाम पर सरकार बनी है उनका नाम जपने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह, राजनाथ सिंह, मोहन भागवत, उमा भारती, कल्याण सिंह, योगी आदित्यनाथ, अरुण जेटली और विनय कटियार पूरी तरह से लापता हो गए है। इसलिए तो कोई भी राम मंदिर की बात ही नही करता है। गोविंद पराशर ने इन लापता नेताओं की खोज के लिए इनाम की भी घोषणा कर दी है।

राष्ट्रीय बजरंग दल के महानगर प्रमुख गोविंद पाराशर का कहना था कि यह लोग हिंदुत्व के नाम पर हिंदुओं को चलाते रहे और राम मंदिर का भरोसा दे हिंदुओं से वोट मांगते रहे लेकिन सरकार बनने के बाद भी राम को ही भूल गए हैं। जिसका खामियाजा 2019 में इन्हें भुगतना होगा।

राम के नाम को मुद्दा बना हिंदुत्व की राजनीति करने वाली भाजपा राष्ट्रीय बजरंग दल के निशाने पर चल रही है केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय बजरंग दल 2019 में भाजपा को घेरने की तैयारी में जुटा है। राष्ट्रीय बजरंग दल के महानगर प्रमुख गोविंद पाराशर ने इस बार फिर विवादित बयान देते हुए नरेंद्र मोदी को मुलायम मुल्ला की तरह मोदी मुल्ला कहकर संबोधित किया और खतना किए जाने तक की बात कह डाली। इतना ही नहीं उनका कहना था कि हिंदुत्व की भावना मोदी के अंदर से खत्म होती जा रही है शायद यही कारण है कि नरेंद्र मोदी अब मंदिरों को छोड़ मस्जिदों में सजदा करने लगे हैं और मौलवियों से नजदीकी उनके हिंदुत्व की भावना वाली मंशा पर सवालिया निशान लगा रही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*