जानिए 31 वर्ष पुराने कौन से मामले का रेलवे मजिस्ट्रेट ने किया निस्तारण

रेलवे कोर्ट में लंबित पड़े तमाम मुकदमो का निपटारा करने के लिए रेलवे की मजिस्ट्रेट कोर्ट में लोक अदालत का आयोजन किया गया। रेलवे मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार ने करीब 1000 मामलो का निस्तारण कराया। पहली बार रेलवे कोर्ट में लगी लोक अदालत में रेलवे के सबसे पुराने मामले का निस्तारण कराकर रेलवे मजिस्ट्रेट ने मिसाल भी पेश की है।

यह मामला रेलवे कोर्ट में 31 वर्ष पुराना है। जो प्रदेश सरकार और त्रिलोकीनाथ के बिच चल रहा था। इस मामले में रेलवे मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार ने आरोपी त्रिलोकीनाथ पर तीन हजार का जुर्माना लगाकर इस मामले को ख़त्म कर दिया है।
बताया जाता है कि 31 वर्ष पहले त्रिलोकीनाथ और दाताराम के खिलाफ आगरा कैन्ट पर रेलवे के माल की चोरी का मुकदमा दर्ज हुआ था और रेलवे कोर्ट ने सजा भी सुनाई थी जिसके बाद दोनों आरोपी इस मामले को लेकर हाई कोर्ट चले गए और स्टे ले आये थे। इस मामले की अपील को हाइकोर्ट ने एक महीने पहले ख़ारिज कर मामले के निस्तारण के आदेश रेलवे कोर्ट को दिए थे।

लोक अदालत में रेलवे मजिस्ट्रेट ने आरोपी की उम्र 80 वर्ष होने का ध्यान रख तीन हजार का जुर्माना लगाकर मामले को ख़त्म कर दिया है। वही दूसरे आरोपी के हाजिर न होने पर दाताराम को फरार घोषित कर दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*