योगी सरकार के ख़िलाफ़ सपा का धरना प्रदर्शन, सपा नेता व कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न का लगाया आरोप

आगरा। प्रदेश की कानून व्यवस्था, महिलाओं पर अत्याचार व अन्य मुद्दों को लेकर समाजवादी पार्टी की ओर से सरकार के विरोध में सदर तहसील प्रांगण में धरना दिया गया। इस प्रदर्शन में भारी संख्या में जिले भर के सपा कार्यकर्ता व आम लोगों ने भाग लिया।

धरना प्रदर्शन के दौरान को सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामजी लाल सुमन ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ऐसी निकम्मी साबित हुई है कि इस शासन में किसान महिलाएं तथा आम आदमी सभी बहुत परेशान हैं। सरकार का एकमात्र काम लोगों में फूट डालना रह गया है। वह हिंदू को मुसलमान से, सिख को ईसाई से लड़ा रहे हैं। कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरीके से फेल है। यदि शीघ्र ही कानून-व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो समाजवादी पार्टी के लोग आंदोलन के द्वारा सरकार को उखाड़ फेंक देंगे।

समाजवादी पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष रामसहाय यादव ने लोगों को संबोधित करते हुए योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर यह सरकार पूर्ण रूप से फेल हो चुकी है। सोनभद्र जिले का नरसंहार दर्शाता है कि किस तरह से यह सामंतवादी सरकार जनता की रक्षा करने में विफल रही है। उन्नाव बलात्कार पीड़िता को सत्ताधारी दल का एक एमएलए सत्ता के संरक्षण में परेशान करता रहा। जब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीङिता के साथ खड़े होकर सरकार के अन्याय के प्रति आवाज उठाई तब कहीं जाकर पीड़िता को सुप्रीम कोर्ट से थोड़ा बहुत न्याय मिल पाया है।
सुप्रीम कोर्ट द्वारा मामले की सुनवाई दिल्ली में कराने से यह साबित हो गया कि सुप्रीम कोर्ट भी योगी सरकार पर भरोसा नहीं करता है। यह सरकार ईवीएम के साथ हुई चोरी की सरकार है। जनता को ईवीएम पर भरोसा नहीं है। इसलिये समाज वादी पार्टी मांग करती है कि चुनाव बैलट पेपर से कराये जाएं।

डीजल पैट्रोल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हुई है जिसे तुरंत वापस लिया जाय। इस वृद्धि के कारण महंगाई चरम पर पहुँच चुकी है। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का योगी सरकार उत्पीड़न कर रही है जिस पर यदि रोक न लगाई गयी तो समाज वादी लोग उसे चैन से नहीँ बैठने देगे।

निवर्तमान शहर अध्यक्ष वाजिद निसार ने कहा कि योगी सरकार पार्टी के कार्यकर्ता व नेताओं का उत्पीड़न कर रही है। योगी सरकार ने जौहर यूनिवर्सिटी को अपना निशाना बनाया हुआ है वह उसे बर्बाद करने पर तुली हुई है। यही नहीं समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां को भी योगी सरकार द्वारा प्रताड़ित व परेशान किया जा रहा है। उनके ऊपर झूठे केस लगाये गये हैं। विधायक अब्दुल्लाह आजम को भी योगी सरकार प्रताड़ित कर रही है। योगी सरकार ने अपने इन कृत्यों को नहीं रोका तो समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता सरकार की ईट से ईट बजा देंगे।

रईसुद्दीन कुरैशी ने कहा कि भाजपा के नेता व कार्यकर्ता प्रदेश में गुंडागर्दी कर रहे हैं। सत्ता के संरक्षण में भाजपा नेता व कार्यकर्ता आम आदमी व गरीब मजलूमों को परेशान कर रहे हैं।

फरुख सैयर ने कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि इस योगी सरकार के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन करना होगा। अन्य वक्ताओं ने कहा कि जनता को ईवीएम मशीन पर भरोसा नहीं है वह बैलेट पेपर से इलेक्शन करवाना चाहती है। अन्त में चौदह सूत्रीय मांगो का एक ज्ञापन राज्यपाल के नाम एसडीएम सदर को दिया गया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*