जेल में निरुद्ध बंदीगण खुद जान सकेंगे अपने केस की वर्तमान स्थिति

आगरा। जिला जेल में निरुद्ध बंदीगणों को उनके केस की जानकारी जेल में ही उपलब्ध कराने के लिए जिला जेल प्रशासन ने सामाजिक संस्था धूम पायल के सहयोग से जिला कारागार में कियोस्क प्रणाली की शुरुआत की है। इस प्रणाली के माध्यम से जिला जेल में निरूद्ध बंदीगण उच्च न्यायालय इलाहाबाद और जनपद न्यायालय में उनके लंबित चल रहे वादों की वर्तमान स्थिति जान सकेंगे। जिला जेल में शुरू हुई इस नई प्रणाली का उद्घाटन जिलाधिकारी गौरव दयाल ने फीता काटकर किया। जिसके बाद यह सेवा जिला कारागार और उस में निरूद्ध बंदियों को समर्पित कर दी गई।

आपको बताते चलें कि जिला जेल में निरुद्ध बंदी गणों को उनके केस में क्या चल रहा है इसकी उचित जानकारी नहीं मिल पाती थी लेकिन अब इस प्रणाली के माध्यम से बंदीगण अपने केस नंबर के माध्यम से जिला जेल से ही सारी जानकारी जुटा पाएंगे।

जिलाधिकारी गौरव दयाल का कहना था कि आगरा जिला जेल पूरे भारत का पहला ऐसा जेल है, जहाँ बंदियों के लिए इस तरह की शुरुआत की गई है। अगर यह पहल जिला जेल में सही तरीके से चली तो उत्तर प्रदेश सरकार से निवेदन किया जाएगा कि इस प्रणाली को अन्य जिलों में भी लागू किया जाए।

जिला जेल अधीक्षक शशिकांत मिश्र का कहना था कि जेल में निरुद्ध बंदी गणों को इस तरह की सुविधाएं देने का प्रयास काफी दिनों से चल रहा था और सामाजिक संस्था धूम पायल के सहयोग से इसे अमली जामा पहनाया गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*