14 अगस्त को लेकर लोगों में दिखा आक्रोश,अखंड भारत की फिर उठी मांग,

आगरा। भारत देश को अखंड बनाने के उद्देश्य को लेकर भारतीय क्रांतिकारी संघ की ओर से अखण्ड भारत संकल्प दिवस का आयोजन किया गया। भारतीय क्रांतिकारी संघ के कार्यकर्ता माल रोड स्थित सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा तक एक विशाल जुलूस निकालकर पहुँचे और भारत के कई हिस्सों को अलग कर अलग देश बनाये जाने को लेकर जमकर प्रदर्शन किया। भारतीय क्रांतिकारी संघ के सदस्य हाथों में बैनर और तख्तियां लेकर भारत देश को अखंड बनाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे तो भारत को खंड खंड करने वाले राजनेताओं के प्रति अपना आक्रोश जता रहे थे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने देश पर अपनी जान कुर्बान करने वाले वीर सपूतों को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि भी दी।प्रदर्शनकारियों ने क्रांतिकारी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा पर जमकर भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाए और भारत देश के खंडित होने पर अपनी प्रतिक्रियाए दी।

भारतीय क्रांतिकारी संघ के पदाधिकारियों का कहना था कि 14 अगस्त आज का दिन भारतीय इतिहास में काला दिवस के रूप में दर्ज है। आज के दिन भारत से एक हिस्सा अलग हुआ था और वह पाकिस्तान बना था। कुछ राजनेतिक लोगों ने अपने स्वार्थ के लिए भारत देश के टुकड़े कर दिए और पाकिस्तान व बांग्लादेश जैसे देशों का गठन हो गया। भारतीय क्रांतिकारी संघ एक बार फिर भारत को अखंड भारत बनाने के लिए अपनी आवाज को बुलंद कर रहा है।

भारतीय क्रांतिकारी संघ के सदस्यों का कहना था कि हर वर्ष 14 अगस्त को अखंड भारत संकल्प दिवस के रूप में मनाया जाता है। सभी सदस्य वीर सपूतों की प्रतिमा पर जाकर प्रदर्शन कर एक बार फिर खंडित हो चुके देश को अखंड बनाने की मांग की जाती है जिससे भारत देश फिर से अपने पुराने स्वरूप में वापस लौट सकें और अपने पुराने वैभव को प्राप्त कर एक बार फिर पूरे विश्व में अपनी पताका लहरा सके

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*